बिहार: उम्रकैद की सजा काट रहे कुख्यात शूटर की सरेआम गोली मारकर हत्या

0
642

दरभंगा में डबल इंजीनियर्स के मर्डर के आरोपित उम्रकैद की सजा काट रहे अभिषेक झा की बाइक सवार अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। वह कुख्यात संतोष झा का शूटर बताया जा रहा है।
पूर्वी चंपारण । बेखौफ अपराधियों ने पुलिस सुरक्षा व्यवस्था को चुनौती देते हुए सोमवार को पूर्वी चंपारण के सिकरहना अनुमंडल कार्यालय के प्रवेश द्वार पर उत्तर बिहार के शातिर बदमाश संतोष झा के शूटर अभिषेक झा को गोली मार मौत के घाट उतार दिया। घटना को अंजाम देने के बाद बाइक सवार दो बदमाश पीछा कर रहे पुलिसकर्मियों की आंख में मिर्च पाउडर झोंक भाग निकले। लगातार तीन चक्र गोली चलने के बाद अनुमंडल परिसर व इससे सटे कोर्ट परिसर के इलाके में भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई। इस बीच तत्काल एसपी उपेंद्र शर्मा, सिकरहना के पुलिस उपाधीक्षक आलोक कुमार और एएसपी अभियान एचएस. सौरभ मौके पर पहुंचे। पूरे इलाके की घेराबंदी कर छापेमारी की जा रही है। पुलिस ने मौके से एक देसी तमंचा और चार कारतूस, दो खोखा जब्त किया है। एसपी ने परिसर में लगे सीसी कैमरे का वीडियो फुटेज खंगालने के बाद अपराधियों की खोज में लगी पुलिस टीम को आवश्यक निर्देश दिए है। पुलिस का दावा है कि बदमाश समय रहते गिरफ्तार कर लिए जाएंगे। बताया गया है कि शिवहर जिले के डुमरी कटसरी निवासी अभिषेक झा को मोतिहारी केंद्रीय कारा से सोमवार की सुबह ढाका के एक रंगदारी के मामले में सिकरहना एसडीजेएम के कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था। इसी क्रम में बंदी अभिषेक ने शौच जाने की बात कही। सुरक्षाकर्मी उसे लेकर अनुमंडल कार्यालय परिसर में गए। वहां से शौच के बाद लौटने के दौरान जैसे ही बंदी अनुमंडल कार्यालय के मुख्य द्वार पर पहुंचा पहले से घात लगाए बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोली चलाना आरंभ कर दिया। इस दौरान तीन गोलियां चलीं। गोली लगने के साथ अभिषेक गिर पड़ा और बाइक सवार बदमाश भाग निकले। आनन-फानन में जख्मी बंदी को इलाज के लिए मोतिहारी सदर अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। याद रहे कि 26 दिसंबर 2015 को दरभंगा जिले के बहेड़ी थानाक्षेत्र के शिवराम में सड़क निर्माण कंपनी बीएससीई एंड सी कंपनी के दो अभियंता क्रमश: मुकेश कुमार और ब्रजेश कुमार की नृशंस हत्या में संतोष झा गिरोह का यह शातिर बदमाश शामिल था। उक्त घटना में उसके साथ कई अन्य अपराधी भी शामिल थे। मामले में त्वरित सुनवाई की प्रक्रिया के तहत 7 मार्च 2018 को संतोष झा गिरोह के अभिषेक झा, मुकेश पाठक, विकास झा उर्फ कालिया और नितेश दुबे को उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। इस बीच पूर्वी चंपारण चल रहे आपराधिक मामलों में सुनवाई के लिए अभिषेक को मोतिहारी सेंट्रल जेल में रखा गया था। यहां से सोमवार को ढाका में पेशी के लिए उसे लाया गया था। इसी बीच बदमाशों ने उसे मौत के घाट उतार दिया। घटना के बाद अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीम लगी है। सीसी कैमरे का फुटेज खंगाला जा रहा है। बदमाश दो की संख्या में बाइक पर सवार थे। पूरे इलाके की घेराबंदी कर छापेमारी की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.