सीएम नीतीश ने कहा-अरे भाई! सीट शेयरिंग के लिए अगले महीने तक का इंतजार करें

0
200

सीएम नीतीश ने कहा-अरे भाई! सीट शेयरिंग के लिए अगले महीने तक का इंतजार करें
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि सीट शेयरिंग के मामले में जल्द-से-जल्द फैसला हो जाएगा। भाजपा नेताओं से इस बारे में वन-टू-वन बात की जाएगी।
पटना । लोकसभा चुनाव 2019 में सीटों के बंटवारे को लेकर बात करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि इस बारे में बीजेपी नेताओं से वन-टू-वन बात की जाएगी। इस मामले में तीन से चार हफ्ते में भाजपा की तरफ से प्रस्ताव आएगा। सीट शेयरिंग के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि ये मसला जल्द ही तय कर लिया जाएगा। मुख्यमंत्री पटना में लोकसंवाद की बैठक के बाद पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे। नीतीश कुमार ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात पर कहा कि ये बस औपचारिक मुलाकात थी। सिर्फ नाश्ता और रात का भोजन साथ हुआ और इस मुलाकात में ऐसा कुछ नहीं हुआ जो शेयर किया जाए।हम लोग साथ काम कर रहे हैं तो साथ बातचीत होती ही रहती है। सीटों को लेकर चल रही संभावनाओं पर नीतीश कुमार के इस बयान के बाद विराम लग जाएगा कि आख़िर भाजपा बिहार में कब अन्य सहयोगियों के साथ सीटों की संख्या साझा करेगी और इस बारे में सबको बताएगी। इस बार जदयू की तरफ से कम से कम 15 सीटें मिलने की उम्मीद की जा रही है। हालांकि भाजपा इतनी सीटें जदयू को कैसे देगी इसको लेकर पार्टी में काफी जोड़-घटाव चल रहा है। भाजपा को जदयू ही नहीं, रामविलास पासवान और उपेन्द्र कुशवाहा को भी अपने खाते से सीटें देनी पड़ेंगी। विशेष राज्य के दर्जे पर उन्होंने कहा कि विशेष राज्य का दर्जा हमारा हक है और हम इसे लेकर रहेंगे। बिहार को विशेष राज्य का दर्जा क्यों मिलना चाहिए? ये सवाल बार-बार आता है। मेरा मानना है कि हर मायने में बिहार पिछड़ा है, प्रति व्यक्ति आय के मामले में भी बिहार निचले पायदान पर है। वहीं पीएम मोदी के विशेष दर्जा के वादे पर नीतीश कुमार ने कहा कि यह सवाल सुशील मोदी से पूछिए, विशेष दर्जा पूरे बिहार की मांग है, विधानमंडल में सर्व सम्मति से मांग का प्रस्ताव पारित हुआ और प्रस्ताव में बीजेपी की भी सहमति है। बिहार हर साल प्राकृतिक आपदाएं झेलता है। एेसे में बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलना तर्कसंगत है।सरकार और सर्वदलीय बैठक के बाद यह मांग रखी जा रही है, जिसपर बिहार की जनता और सभी दल एकमत हैं। 15 वें वित्त आयोग में इसकी चर्चा होगी।
-कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है इस सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि इस मामले को कांग्रेस ही बेहतर बता सकती है। इस मामले को वो लोग ही जानें। सभी को अपने-अपने तरह से राजनीति करने का अधिकार है। वहीं –
-बालिका गृह यौन शोषण मामले में उन्होंने कहा कि समाज कल्याण विभाग ने मामले का खुद उद्भेदन किया है और इस मामले में तर्कसंगत कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि किसानों को हर संभव सहायता पहुंचाना हमारी प्रॉयरिटी है, इसके लिए सरकार गंभीर है और इसके लिए हमने किसान फसल सहायता की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि सब्जी के ऑर्गेनिक फार्मिंग पर इनपुट सब्सिडी दी जा रही है। अभी चार जिलों में इस पर काम हो रहा है। अनुभव के आधार पर इसको लागू किया जाएगा। लोकसंवाद कार्यक्रम में औरंगाबाद से आये आस्तिक शर्मा ने सुझाव दिया कि भेटनरी कॉलेज में जानवरों को चारा नहीं मिलता और भेटनरी कॉलेज से पशुओं को कसाई खाना भेजा जा रहा है, पशु खरीद मामले में भी गड़बड़ी की जा रही है। इसके लिए कारगर कदम उठाए जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.