यूपी और दिल्ली में बंद राठी के गुर्गों का जेल से ही फेसबुक एकाउंट हो रहा अपडेट

0
89

भले ही पूर्वांचल के डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के मुख्य आरोपी सुनील राठी को बागपत की जिला जेल से फतेहगढ़ शिफ्ट कर दिया गया हो मगर दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और यूपी की विभिन्न जेल में बंद सुनील राठी गिरोह के सदस्य सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं। साथ ही इसके जरिये वे अपने आतंक का साम्राज्य बदस्तूर चला रहे हैं। फेसबुक आईडी से अपने चाहने वालों को संदेश देने के साथ-साथ वीडियो कालिंग से वे लगातार अपने गैंग के संपर्क में रहते हैं। जेल में रहते भी सारे गैर कानूनी कार्य और गैंग संचालित किया जा रहा है।
दस लाख के इनामी रहे अमित उर्फ भूरा की चार, तो एक लाख के इनामी नीरज बवाना की तीन फेसबुक आईडी लगातार अपडेट हो रही हैं। इनके अलावा जेल में बंद कुख्यात दिनेश उर्फ सोनू की फेसबुक आईडी भी खूब चर्चाओं में है। सूत्रों का कहना है कि इस मामले में बागपत पुलिस ने हरियाणा पुलिस से गिरोह के सदस्यों से पूछताछ करने में सहयोग मांगा है। पूर्वांचल के डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद से ही उसका मुख्य हत्यारोपी सुनील राठी चर्चाओं में है। हालांकि उसे बागपत की जिला जेल से फतेहगढ़ के लिए शिफ्ट करते हुए उसपर काफी शिकंजा कस दिया गया है, मगर उसके गिरोह के सदस्य जेल में बंद हार्ड कोर सदस्यों का सोशल मीडिया के जरिये अपराधिक गतिविधियों का संचालन धड़ल्ले से हो रहा है। उनके फेसबुक एकाउंट को लगातार अपडेट किया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार कई-कई फेसबुक आईडी बनाकर ऐसे अकाउंट को जेल से ही अपडेट किया जा रहा है। हिन्दुस्तान ने इसकी पड़ताल की तो कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। सुनील राठी गिरोह के सदस्य सोनू जो तिहाड़ जेल में बंद है का फेसबुक एकाउंट लगातार अपडेट किया जा रहा है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का दस लाख का इनामी रहा भूरा वर्तमान में पंजाब के पटियाला जेल में बंद है। उसके नाम के चार फेसबुक पर बनाए गए एकाउंट अपडेट किए जा रहे है। एक पोस्ट में तो भूरा ने कहा है कि वह जल्द ही जेल से बाहर आएगा। इसके अलावा एक लाख के इनामी रहे गिरोह के सदस्य दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद नीरज बवाना के तीन फेसबुक एकाउंट लगातार अपडेट किए जा रहे है। नीरज ने 14 जुलाई को भी एक फेसबुक एकाउंट पर पोस्ट डाली थी, जिसमें पुलिसकर्मी नीरज को जेल से बाहर लाते दिखाई दे रहे हैं। अब सवाल यह उठता है कि आखिरकार दिल्ली, पटियाला समेत कई हाई सिक्योरिटी जेल में बंद रहने के बावजूद भी सुनील राठी के गिरोह के सदस्यों के फेसबुक एकाउंट कैसे अपडेट किए जा रहे हैं? ये खुद अपने अकाउंट को अपडेट कर रहे हैं या फिर इसके लिये भी उनकी कोई अलग से सोशल मीडिया ब्रिगेड है। सूत्रों की मानें तो सुनील राठी गिरोह के सदस्यों को हर जेल में विशेष छूट दी जाती है। मोबाइल रखने पर कोई बैन नहीं होता है, जिसके चलते वे लोग आसानी से अपना गिरोह ऑपरेट करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here