हिन्दू धर्म को लेकर शशि थरूर ने फिर दिया विवादित बयान, कांग्रेस ने किया किनारा

0
81

भाजपा की युवा शाखा के सदस्यों द्वारा कांग्रेस नेता शशि थरूर के यहां स्थित कार्यालय की दीवार को विरूपित किए जाने के कुछ दिन बाद ही उन्होंने यह सवाल करके नया विवाद खड़ा कर दिया है कि क्या ”हिन्दू धर्म का तालिबानीकरण शुरू हो गया है। थरूर ने हाल में यह टिप्पणी करके बड़ा विवाद पैदा कर दिया था कि अगर भाजपा फिर से सत्ता में आई तो वह संविधान को फिर से लिखेगी और ”हिन्दू पाकिस्तान बनाने का रास्ता तैयार करेगी। कांग्रेस ने आज एक बार फिर दोहराया कि पार्टी नेताओं को बयान देते समय संभलकर बोलना चाहिए। थरूर की टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस नेता के सी वेणुगोपाल ने पत्रकारों से कहा, ”हमने पहले ही अपनी स्थिति पूरी तरह स्पष्ट कर दी है। जब भी पार्टी नेता बोलते हैं तो उन्हें अपनी भाषा को लेकर बहुत सावधान रहना चाहिए। यह पहले ही कहा जा चुका है। तिरूवनंतपुरम से कांग्रेसी सांसद ने केन्द्र द्वारा राज्य को कथित रूप से नजरअंदाज करने के खिलाफ कल आयोजित विरोध प्रदर्शन में केरल के विपक्षी यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) के कार्यकर्ताओं से कहा, ”वे मुझसे पाकिस्तान जाने के लिये कह रहे हैं। यह फैसला करने का अधिकार उन्हें किसने दिया कि मैं उनके जैसा हिन्दू नहीं हूं, इसलिये मैं भारत में नहीं रह सकता? उन्होंने कहा, ” ‘हिन्दू राष्ट्र की भाजपा की बात वास्तव में बहुत खतरनाक है और यह इस देश को तोड़ देगी। क्या हिन्दू धर्म का तालिबानीकरण शुरू हो गया है? भाजपा की युवा शाखा भारतीय जनता युवा मोर्चा के सदस्यों ने सोमवार को थरूर के कार्यालय को विरूपित करते हुये उनसे ”हिन्दू पाकिस्तान संबंधी टिप्पणी के लिये माफी मांगने को कहा था। थरूर ने आज संसद भवन के बाहर पत्रकारों से बातचीत में अपनी टिप्पणियों का बचाव किया और उन लोगों की आलोचना की जो उन्हें पाकिस्तान जाने के लिए कहते हैं। उन्होंने कहा, ”मैं इस देश का नागरिक हूं, जन प्रतिनिधि होने के नाते मेरे पास अपने विचार रखने का अधिकार है। उन दावों के बारे में पूछे जाने पर कि वह अपनी टिप्पणियों से देश को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं, इस पर कांग्रेस नेता ने कहा कि ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा, ”अगर भारत को एक धर्म के लिए बनाएंगे तो शायद उससे देश टूट सकता है। जब सभी लोग साथ रहेंगे तो देश कैसे टूटेगा। उन्होंने कहा, ”मैं अपना कोई बयान वापस नहीं ले रहा हूं। उन लोगों को माफी मांगनी चाहिए जिन्होंने केरल में मेरे कार्यालय पर हमला किया। तिरुवनंतपुरम में थरूर के कार्यालय में तोड़फोड़ की घटना के संबंध में कल भाजयुमो के पांच कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया।लोकसभा में आज थरूर ने अपने कार्यालय पर हुए हमले का विषय उठाया और अपनी जान को खतरा होने का दावा करते हुए आरोप लगाया कि देश में असहिष्णुता बढ़ रही है। शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए थरूर ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से ऐसी घटनाओं पर चुप्पी तोड़ने को कहा। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसे हमले देश में बढ़ रहे हैं। कल ही स्वामी अग्निवेश पर हमला किया गया और ऐसा सत्तारूढ़ दल की शह पर हो रहा है। इस पर संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि यह घटना केरल की है, केरल में किसकी सरकार है, इसके बारे में थरूर समेत सभी को पता है। कानून एवं व्यवस्था राज्य का विषय होता है। ऐसे में केरल में जो कुछ हुआ, उसकी जिम्मेदारी हमारे ऊपर नहीं डाली जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here