बिहार: DGP ने कहा-बालिका गृह यौनशोषण मामले में CBI जांच की जरुरत नहीं

0
43

बिहार के डीजीपी केएस द्विवेदी ने कहा कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह में 29 बच्चियों के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। इस मामले में पुलिस काम कर रही, सीबीआइ जांच की जरुरत नहीं है।
पटना । मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौनशोषण मामले पर बिहार के डीजीपी केएस द्विवेदी ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि इस मामले में बिहार पुलिस की जांच से हम संतुष्ट हैं और अभी इस मामले में सीबीआइ जांच की जरुरत नहीं है। उन्होंने संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि इस मामले में 11 आरोपियों में से 10 की गिरफ्तारी की गई है और एक आरोपी दिलीप वर्मा फरार है, उसकी तलाश की जा रही है। उन्होंने बताया कि संस्था में रह रहीं 44 लड़कियों में से 42 की मेडिकल जांच कराई गई थी जिसमें से 29 बच्चियों के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। उन्होंने बताया कि इसकी जांच का जिम्मा समाज कल्याण विभाग ने ही टाटा मेमोरियल संस्था कोशिश को दी थी, जिसकी जांच के बाद पुलिस ने मामले का पता लगते ही त्वरित कार्रवाई की। उन्होंने कहा कि इस संस्था से चार लड़कियां जो फरार बताई जा रही हैं उनमें से तीन लड़कियां मृत पायी गई हैं, जिनसे संबंधित जानकारी संस्था के रजिस्टर में दर्ज है। एक लड़की जो गायब बताई जा रही थी वो मुजफ्फरपुर में ही रह रही है, उसकी शादी हो चुकी है।
उन्होंने बताया कि इस घटना के बाद पीड़ित लड़कियों के मानसिक स्वास्थ्य को सही करने के लिए साइकलॉजिस्ट और डॉक्टरों की मदद ली जा रही है। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर के अलावा भी बिहार के अन्य अल्पावास गृह में बच्चों और बच्चियों के रख-रखाव और सुरक्षा व्यवस्था की जांच की जा रही है। कहीं से एेसी कोई बात पता नहीं चली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here