उपेंद्र कुशवाहा का बड़ा बयान-CM के रूप में नीतीश अब स्वीकार नहीं, बयानबाजी तेज

0
119

एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि अब नीतीश कुमार को खुद ही सीएम पद छोड़ देना चाहिए, किसी नए चेहरे को मौका देना चाहिए। उनके इस बयान पर राजनीति चरम पर है।
पटना । रालोसपा अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने एक स्थानीय चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि आने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार को सीएम का चेहरा नहीं बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि उनकी बजाय किसी नए चेहरे को जगह मिलनी चाहिए। उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार ने पंद्रह साल तक बिहार की सत्ता संभाली, अब किसी और को भी काम करने का मौका मिलना चाहिए। पंद्रह साल बहुत होते हैं। नीतीश कुमार को अब बड़ी राजनीति करनी चाहिए और खुद ही सीएम का पद छोड़ देना चाहिए। उनके इस बयान के बाद बिहार में राजनीतिक माहौल गरमा गया है। जदयू ने जहां इसकी तीखी आलोचना की है वहीं राजद और कांग्रेस ने कुशवाहा की हां में हां मिलाते हुए कहा है कि नीतीश कुमार को अब सीएम पद का त्याग कर देना चाहिए। जदयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि नीतीश कुमार को बिहार की जनता जब तक चाहेगी तबतक वही सीएम का चेहरा होंगे। ये सब बचकानी बाते हैं कि नीतीश कुमार को सीएम पद छोड़ देना चाहिए। किसी की इच्छा या अनिच्छा से वो सीएम नहीं बने हैं, जनता की पसंद की वजह से वो प्ंद्रह साल से सीएम हैं। त्यागी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि लोगों को सत्ता से मोह है और टिकट पाने के लिए इधर-उधर जा रहे हैं लेकिन हम एनडीए के साथ हैं। कुशवाहा के इस बयान पर राजद नेता ने कहा कि नीतीश कुमार सत्ता के लिए किसी के पास जा सकते हैं किसी के साथ गठबंधन कर सकते हैं। जनता ने तो उन्हें पहले ही नकार दिया था तभी तो गठबंधन में जाने की जरुरत पड़ी। कहां उन्हें पूर्ण बहुमत मिला है। वहीं कुशवाहा के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि अब एनडीए में फूट तय है। उन्होंने कहा कि कुशवाहा ने सही कहा है। पन्द्रह साल से एक ही व्यक्ति सत्ता संभाल रहा है दूसरों को भी मौका मिलना चाहिए। एनडीए में विरोध का सुर तेज हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here