कारगिल विजय दिवस: देश के लिए कुर्बान हुए जवानों को नमन, जानें कारगिल युद्ध की 8 बातें

0
34

आज से 19 साल पहले आज ही दिन 26 जुलाई 1999 को भारत ने कारगिल युद्ध में पाकिस्तान को परास्त कर विजय हासिल की थी। इस दिन को पूरे भारतवर्ष में कारगिल विजय दिवस के रूप में याद करते हैं। करी दो महीने तक चले इस युद्ध में भारतीय ने सेना के जांबाज जवानों ने जो पराक्रम दिखाया उसे हर भारतीय गर्व से याद करता है और अपने मातृभूमि के खातिर मर मिटने वाले अमर सपूतों को श्रद्धा से नमन करता है।
जानें कारगिल विजय की 8 बातें-
1- लगभग18 हजार फीट की ऊंचाई पर कारगिल में लड़ाई की शुरुआत तब हुई जब एक चरवाहे ने 3 May 1999 को भारतीय सेना को पाकिस्तानियों द्वारा घुसपैठ करने की जानकारी दी।
2- कारगिल की ऊंची पहाडि़यों पर पाकिस्तान के करीब 5000 सैनिकों ने घुसपैठ कर कब्जा जमा लिया था।
3 – कारगिल युद्ध में भारत के 527 से ज्यादा जवान शहीद हुए और 1300 से ज्यादा घायल हुए।
4- कारगिल युद्ध के दौरान करीब 2 लाख 50 हजार गोले दागे गए। वहीं 5,000 बम फायर करने के लिए 300 से ज्यादा मोर्टार, तोपों और रॉकेट का इस्तेमाल किया गया। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद ऐसा पहला युद्ध था जिसमें दुश्मन देश की सेना पर इतनी बड़ी संख्या में गोले दागे गए थे।
5- पाकिस्तानी सेना की आखिरी पोस्ट नष्ट करने के लिए 26 मई 1999 को भारतीय वायुसेना को आदेश दिया गया।
6- कारगिल युद्ध पर 2003 में एलओसी कारगिल नाम से फिल्म भी बन चुकी है।
7- कारगिल युद्ध के दौरान भारत के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी थे जबकि पाकिस्तान की सत्ता जनरल परेवज मुशर्रफ के हाथों में थी।

8- कारगिल युद्ध में पाकिस्तान को परास्त करने के लिए भारतीय सेना ने ‘ऑपरेशन विजय’ नाम का अभियान चलाया था। 11 घंटे के युद्ध में भारतीय वायुसेना ने 26 मई 1999 को कारगिल इलाके को पाकिस्तान से मुक्त करा लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here