बिहार: RJD की साइकिल यात्रा शुरू, सैकड़ों समर्थकों के साथ निकले तेजस्वी

0
277

राजद की आज से तीन दिनों की साइकिल रैली की शुरुआत आज बोधगया से हुई। सैकड़ों समर्थकों के साथ तेजस्वी यादव साइकिल से निकले। तेजस्वी ने बिहार सरकार की नाकामियों पर जमकर हमला बोला।
पटना । बिहार में कानून की गिरती व्यवस्था और लड़कियों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ राजद की आज ‘एनडीए भगाओ बेटी बचाओ’ साइकिल रैली बोधगया से शुरू हुई। अपने हजारों समर्थकों के साथ तेजस्वी यादव ने रैली की शुरुआत की। ये रैली सुबह 8.30 बजे शुरू होने वाली थी, लेकिन बारिश की वजह से दोपहर बाद शुरू हुई। बारिश ने राजद की रैली की शुरुआत में खलल डाल दी। बारिश की वजह से तेजस्वी साइकिल से नहीं रिक्शे से बोधगया मंदिर पहुंचे और उन्होंने भगवान बुद्ध की प्रतिमा के सामने शीश नवाया। उसके बाद तेजस्वी ने कहा कि यह यात्रा राजनीतिक नही बल्कि सामाजिक चेतना जागृत करने को लेकर है। बिहार के हर जिले में महिलाएं व बच्चियां सुरक्षित नही है। देश मे नफरत की राजनीति फैलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में एक दामिनी की घटना से देश जल उठा था। जबकि बिहार में 29 बच्चियों के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हो चुकी है और मुख्यमंत्री खामोश है। सीएम की यह चुप्पी आपराधिक चुप्पी है। उन्होंने कहा कि बोधगया में लागू यातायात व्यवस्था से पर्यटक और यहां की अर्थ व्यवस्था प्रभावित हो रहा है। सरकार महाबोधि मंदिर की सुरक्षा में मैन पावर को बढ़ाए। 2-3 किमी की घेराबंदी सुरक्षा के नाम पर जायज नही है। 2019 लोकसभा चुनाव पर उन्होंने कहा कि अम्बेडकर, मंडल और गांधी जी विचार धारा बनाम गोडसे, गोवरिकर है। हम संविधान बचाने की लड़ाई लड़ रहे है। देश मे नागपुरिया कानून लागू करने का प्रयास हो रहा है। अगर 2019 में दुबारा सत्ता में बीजेपी आई तो यह देश का आखिरी चुनाव होगा। गया से पटना की 115 किमी की यात्रा में तेजस्वी और तेजप्रताप खुद साइकिल की सवारी कर रास्ते भर राज्य सरकार के खिलाफ लोगों को उत्साहित करते चलेंगे। तेजप्रताप साइकिल से रवाना हुए और अब जहानाबाद जाकर साइकिल यात्रा में शामिल होंगे। बारिश के कारण गांधी मैदान में बारिश का पानी जमा होने के कारण तेजस्वी की साइकिल यात्रा के कार्यक्रम में फेरबदल किया गया है। गुरुवार को पूरे ताम-झाम के साथ पूर्व स्वास्थय मंत्री तेजप्रताप यादव बोरिंग रोड़ जिम से अपने आवास तक साइकिल चलाकर लोगों को आरजेडी की प्रस्तावित साइकिल रैली के लिए आमंत्रित करने निकले थे। लेकिन, साइकिल चलाने के दौरान ही तेजप्रताप बीच सड़क पर गिर गए। इसकी तस्वीरें और फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं। तेजप्रताप के साइकिल से गिरने पर जदयू नेताओं ने तंज कसा था कि जो साइकिल नहीं चला सकते वो बिहार को चलाने की बात करते हैं। पहले साइकिल की हैंडिल संभालना तो ये लोग सीख लें। बता दें कि ‘एनडीए भगाओ-बेटी बचाओ’ साइकिल रैली के लिए राजद ने 2000 साइकिल भी खरीदी हैं। इसके अलावा नेताओं और कार्यकर्ताओं को भी अपनी साइकिल लेकर रैली में आने के लिए कहा गया है।मालूम हो कि राजद की साइकिल यात्रा बिहार के बोधगया से शुरू होकर राजधानी पटना जायेगी। पटना में राजभवन पहुंचकर बिहार सरकार के कार्यों के खिलाफ एक ज्ञापन राज्यपाल सत्यपाल मलिक को सौंपा जायेगा। बोधगया से राजधानी तक की साइकिल यात्रा में कई पड़ाव भी निर्धारित किये गये हैं। शनिवार को सुबह बोधगया मंदिर में दर्शन के बाद समर्थकों को संबोधित कर साइकिल रैली शनिवार की सुबह 10 बजे शुरू की जानी थी। यह रैली शनिवार रात को जहानाबाद पहुंचेगी। यहां रात में विश्राम करने के बाद रविवार सुबह जहानाबाद के गांधी मैदान में समर्थकों को संबोधित कर पटना के लिए रवाना होगी। रविवार की शाम को साइकिल रैली मसौढ़ी पहुंचेगी। यहां रविवार की रात को अपने पलटन के साथ तेजस्वी यादव मसौढ़ी में रुकेंगे। यहां भी सोमवार की सुबह समर्थकों को संबोधित कर वह पटना के लिए रवाना हो जायेंगे। वहीं, पटना स्थित राजभवन पहुंच कर वह वर्तमान सरकार के कार्यों के खिलाफ राज्यपाल सत्यपाल मलिक को ज्ञापन सौपेंगे। राजद की इस साइकिल यात्रा में उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव समेत राजद के कई नेता और कार्यकर्ता शामिल हैं। गया से पटना तक तीन दिनों की यात्रा में तेजस्वी और तेजप्रताप के साथ करीब दस हजार साइकिल सवार होने का दावा किया गया है। इसके लिए गया में दो हजार नई साइकिलें खरीदी गई हैं। युवा राजद के प्रदेश प्रवक्ता अरुण कुमार यादव ने दावा किया कि पूरे प्रदेश से हजारों की संख्या में कार्यकर्ता गया पहुंच चुके हैं। युवा राजद की ओर से पांच हजार पुरानी साइकिल की व्यवस्था की गई है। बेलागंज के विधायक सुरेंद्र यादव ने भी अपने स्तर से साइकिल का इंतजाम किया है। महागठबंधन के सबसे बड़े घटक दल होने के कारण राजद की साइकिल यात्रा से संपूर्ण विपक्ष की उम्मीदें जुड़ गई हैं। यात्रा में कांग्रेस-हम के नेता शिरकत तो नहीं करेंगे, लेकिन नजरें टिकी रहेंगी।

कार्यकर्ताओं को कैप और टी-शर्ट भी

दस हजार यात्रियों के लिए राजद ने हरे रंग की टी-शर्ट और कैप की व्यवस्था की है। कैप पर तेजस्वी की तस्वीर होंगी। टी-शर्ट पर राजद का स्लोगन लिखा होगा। 10 हजार कार्यकर्ताओं के अलावा आसपास के गांवों से भी हजारों की अतिरिक्त संख्या आने की संभावना है। एक हजार युवा गया से पटना तक तेजस्वी के साथ आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.