2019 लोकसभा चुनाव में मोदी के सामने कोई नहीं टिक पाएगा: प्रकाश सिंह बादल

0
43

पंजाब के पांच बार मुख्यमंत्री रह चुके प्रकाश सिंह बादल ने कहा है कि 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने विपक्ष का कोई भी नेता टिकता नजर नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी जी काफी मेहनत करते हैं। शिरोमणि अकाली दल के नेता प्रकाश बादल ने ‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि लोग ऐसा नेता चाहते हैं जो देश को संभाल और चला सके। उन्होंने कहा कि मुझे यकीन है कि जनता मोदी जी को पांच और साल देगी। हालांकि इस दौरान सीटें ज्यादा या कुछ कम हो सकती हैं। क्योंकि प्रधानमंत्री ने भारत को अपने देशवासियों और दुनिया की नजर में ऊंचा उठाया है।उन्होंने कहा कि मैंने हमेशा भाजपा नेताओं को मुस्लिम और ईसाईयों को साथ लेकर चलने की सलाह दी है। बादल ने कहा कि एक बार जब आप सरकार बना लेते हैं तो आप किसी समुदाय या पार्टी से नहीं जुड़े होते हैं बल्कि पूरे देश से जुड़े होते हैं। आपको सभी धार्मिक और सांस्कृतिक विविधताओं का सम्मान करना होगा। अगले साल लोकसभा चुनावों के दौरान राष्ट्रीय राजनीतिक परिदृश्य के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री बादल ने कहा कि अगर महागठबंधन बनता भी है तो उसमें जल्द ही आपको विरोधाभास देखने को मिलने लगेंगे। आखिरी में दो ही राष्ट्रीय पार्टियां भाजपा और कांग्रेस होंगी। अन्य पार्टियां विकल्प देखेंगी कि अगली सरकार में उनकी बड़ी भूमिका कैसे हो सकती है। अब राजनीति सिर्फ अपने लिए होती है। अब कोई सिद्धांत नहीं होता। अभी इसमें काफी समय है। राजनीति का कोई सूत्र नहीं है। क्या भाजपा 2014 दोहरा पाएगी। इस सवाल पर प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि इस पर कोई भविष्यवाणी नहीं कर सकता। लेकिन यह निश्चित है कि भाजपा अगली सरकार बनाने में सक्षम होगी। लोगों की मनोदशा को भापना मुश्किल है। 2014 में पंजाब में अप्रत्याशित रूप से आम आदमी पार्टी की लहर से चार सांसद बन गए जिनका राजनीति से कोई लेना देना नहीं था। उन्होंने कहा कि जब कोई लहर होती है तो कोई भी चेहरों को नहीं देखता है। भाजपा और अकाली गठबंधन के सवाल पर बादल ने कहा कि हमारे बीच लेनदेन का संबंध नहीं है। हम उनके साथ गवर्नर या सत्ता पाने के लिए नहीं हैं। हमारा गठबंधन दिल और दिमाग से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि हम 1996 से भाजपा के साथ दृढ़ता से रहे हैं और ऐसा आगे भी जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here