एजबेस्टन टेस्ट का तीसरा दिन गेंदबाजों के नाम रहा। भारत और इंग्लैंड को मिलाकर कुल 14 विकेट एक दिन में गिरे। भारत के लिए सबसे बड़ी बात यह है कि टीम के सबसे सीनियर बॉलर इशांत शर्मा ने करिश्माई गेंदबाजी की। इंग्लैंड की दूसरी पारी में पांच विकेट हासिल करने वाले इशांत ने कहा कि वो अपने प्रदर्शन से इसलिए खुश हैं क्योंकि वो ‘डिफेंस बॉलर’ कहलाते हुए थक चुके थे। ‘डिफेंसिव बॉलर’ के टैग से थक गया था इशांत शर्मा ने पहले टेस्ट के तीसरे दिन गेयर बदलते हुए शानदार स्पेल डाले और एक के बाद एक करके इंग्लैंड के बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा। इशांत ने अपने टेस्ट करियर में आठवीं पांच विकेट चटकाए, जिसमें एक ही ओवर में तीन विकेट भी शामिल रहे। दिन खत्म होने के बाद इशांत ने कहा, “मैं इस ‘डिफेंसिव बॉलर’ वाले टैग लगाए जाने ऊब गया था। मैं अच्छी गेंदबाजी तो कर रहा था लेकिन विकेट ज्यादा नहीं मिल रहे थे। मुझे अब खुशी है क्योंकि में काफी मेहनत से गेंदबाजी की। आपने देश के लिए टेस्ट मैच की दूसरी पारी में पांच विकेट चटकाकर काफी अच्छा महसूस होता है।” बता दें कि इशांत ने बेयरस्टो, स्टोक्स और बटलर जैसे खतरनाक बल्लेबाजों को एक ही ओवर में आउट किया। ENGvsIND: फिर भारत के लिए ‘गले की फांस’ बना इंग्लैंड का एक युवा खिलाड़ी काउंटी क्रिकेट से काफी मदद मिली आपको बता दें कि इशांत शर्मा ने 83 में से 50 टेस्ट मैच भारत से बाहर खेले हैं। साथ ही उन्होंने आठ में पांच बार एक पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा विदेशों में ही किया है। इस सीरीज से पहले इशांत इंग्लैंड में काउंटी भी खेले जिससे उनको काफी मदद मिली, इशांत ने बताया, “काउंटी खेलने से मेरी बॉलिंग में काफी सुधार आया। मैं आईपीएल नहीं खेल कर निराश जरूर हुआ था लेकिन वो मेरे लिए बेहतर रहा। ससेक्स के लिए मैंने ड्यूक बॉल से सिर्फ चार मैच में ही बॉलिंग की लेकिन बड़ी बात ये थी कि मैंने 150-200 ओवर यहां गेंदबाजी की।” ENGvsIND: कोहली की पारी से खुश ‘स्पेशल फ्रेंड’ ने कही ये बड़ी बात ‘भारत 1-0 से सीरीज में लीड बना लेगा’ इशांत शर्मा का कहना है कि 194 रनों का लक्ष्य ज्यादा मुश्किल नहीं है और भारत यह मैच जीत लेगा। उन्होंने कहा, “हमने पांच विकेट खोए जरूर हैं लेकिन उससे ज्यादा दिक्कत नहीं है। आपने देखा ही है कि कैसे पिछली इनिंग में सब बल्लेबाज आउट हो गए थे, लेकिन इंग्लैंड के एक खिलाड़ी ने बड़ी साझेदारी कर ली। इसलिए मुझे लगता है कि हम ये लक्ष्य आसानी से हासिल कर लेंगे।” गौरतलब है कि इंग्लैंड के आठवें नंबर के बल्लेबाज सैम कुरेन ने लगातार चौके-छक्के जड़े और 65 गेंदों में 63 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली।

0
136

एजबेस्टन में जारी पहले टेस्ट में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को करारा जवाब देते हुए 200 रनों के अंदर ढेर किया। लेकिन दूसरी पारी खेलने आई इंडिया के सामने फिर वही दिक्कत खड़ी हो गई। यह दिक्कत है भारत के टॉप ऑर्डर बल्लेबाज धवन, विजय और राहुल का फिर से सस्ते में आउट होकर लौटना। तीनों ही बल्लेबाजों को लेकर इंडियन फैंस नाराज हैं, लेकिन शिखर धवन से लोग ज्यादा गुस्सा हैं, क्योंकि बैटिंग पर फ्लॉप होने के साथ ही वो लगातार कैच भी छोड़ रहे हैं। 194 रनों का लक्ष्य हासिल करने के लिए भारत को ओपनर शिखर धवन से इस बार उम्मीद थी लेकिन वो 13 रन पर आउट हो गए। इससे पहले धवन ने पहली पारी में 26 रन ही बनाए थे। लेकिन बात यहीं खत्म नहीं होती। बैटिंग में अच्छा प्रदर्शन नहीं करने के बावजूद फील्डिंग में धवन बड़ी लापरवाही कर रहे हैं। इंग्लैंड की दूसरी पारी में उन्होंने दो कैच ड्रॉप किए। इसमें से कुरेन का कैच भले ही मुश्किल रहा हो, लेकिन आदिल राशिद का आसान कैच भी धवन ने छोड़ दिया। वहीं इंग्लैंड की पहली इनिंग में भी धवन ने कैच ड्रॉप किए थे। बल्लेबाजी और फील्डिंग दोनों में फिड्डी दिख रहे धवन से इंडिया के फैंस खुश नहीं हैं। लोगों ने शिखर धवन को लेकर अपनी नाराजगी सोशल मीडिया पर जाहिर की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here