RRB Group D भर्ती 2018: PET के लिए रेलवे ने बदला ये नियम

0
2022

रेलवे अब ग्रुप डी पदों की भर्ती में भी टिकट रिजर्वेशन की तरह प्रतीक्षा सूची बनाएगा। जिस तरह कन्फर्म सीट वाले मुसाफिरों के गैरहाजिर होने या टिकट कैंसिल होने पर वेटिंग सूची वाले मुसाफिरों को सीट दी जाती है। ऐसे ही नौकरी के लिए चयनित अभ्यर्थियों के ज्वॉइन नहीं करने पर अब वेटिंग लिस्ट वाले अभ्यर्थियों को नौकरी का मौका दिया जाएगा। इस संबंध में रेलवे बोर्ड से आदेश जारी कर दिए गए हैं। रेलवे की ग्रुप डी भर्ती के नियमों में रेल मंत्रालय ने कई बदलाव कर दिए हैं। इसी के तहत अब रिक्तियों के लिए सफल अभ्यर्थियों को चुनने के साथ वेटिंग अभ्यर्थियों की भी सूची बनाने का नियम लागू किया गया है। रेलवे बोर्ड के निदेशक स्थापना (एन) नीरज कुमार की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि पदों के सापेक्ष 50 फीसदी अभ्यर्थियों की प्रतीक्षा सूची बनाई जाएगी। चयनित अभ्यर्थियों के ज्वाइन नहीं करने पर इस सूची के अभ्यर्थियों को नौकरी के लिए क्रमवार चुना जाएगा। यदि प्रतीक्षा सूची के सभी अभ्यर्थियों के समायोजन के बावजूद पद खाली रह जाते हैं तो मेरिट गिराकर अन्य अभ्यर्थियों को नौकरी का मौका दिया जाएगा। इस आशय का रेलवे बोर्ड का पत्र उत्तर मध्य रेलवे समेत सभी जोन के प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी को भेजा गया है।
यह नियम भी बदले
रेलवे बोर्ड के पत्र में यह भी कहा गया कि शारीरिक योग्यता परीक्षा (पीईटी) के लिए रिक्तियों के सापेक्ष तीन गुना ज्यादा अभ्यर्थी बुलाए जाएं। अब तक दो गुना अभ्यर्थी पीईटी के लिए बुलाए जा रहे थे। वहीं, शैक्षणिक व अन्य प्रमाणपत्रों की जांच के दौरान पदों के सापेक्ष दो गुना रेलवे अभ्यर्थी बुलाने का आदेश भी दिया गया है।
नए नियम से होगी 62,907 पदों की भर्ती
रेलवे भर्ती के नियमों में किया गया बदलाव हाल मे निकाली गई 62,907 पदों की भर्ती से ही लागू होगा। इस भर्ती के लिए कुछ समय पहले ही लाखों अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। सीईएन 02/2018 भर्ती से नए नियम लागू किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here