इंग्लैंड के दिग्गज ने कहा, ‘कोहली की तरह बेहतरीन बल्लेबाज नहीं हैं रूट’

0
83

ब्रेयरली ने कहा, ‘‘कोहली की तुलना में रूट की अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में बदलने की दर कम है लेकिन मुझे लगता है कि रूट भी अच्छे बल्लेबाज है और मैं उसे अच्छा करना देखना चाहता हूं. वह अलग है एक शानदार बल्लेबाज और बहुत समझदार. वह कोहली की तरह अच्छा बल्लेबाज नहीं है लेकिन सोचने समझने वाला खिलाड़ी है.’’

ब्रेयरली ने कोहली को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बताते हुए कहा कि ऐसा उनकी आक्रामकता के कारण है.

कोहली ने पहले टेस्ट में 149 और 51 रन की पारी खेली लेकिन भारतीय टीम इस करीबी मुकाबले को 31 रन से हार गयी. ब्रेयरली ने हालांकि आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने पर कोहली की तारीफ की.

उन्होंने कहा,‘‘मुझे लगता है कि कोहली दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज है और जिस बल्लेबाज का औसत तीनों प्रारूप में 50 से ज्यादा का है वह शानदार खिलाड़ी होगा. वह किसी भी परिस्थिति में खेल सकता है. रूट भी ऐसा ही है लेकिन जो बात कोहली को अलग बनाती है वह है अर्धशतक को शतक में बदलने की काबिलियत.’’

उन्होंने कहा किसी भी हार से दर्द होता है लेकिन कोहली इस हार से काफी कुछ सीखेंगे.

उन्होंने कहा,‘‘कोहली के लिए टेस्ट की यह हार सीखने वाली होगी. इससे उनके लिए चीजें आसान होगी (क्योंकि अब टीम से उम्मीदें कम होगी). इस भारतीय टीम में हार ना मानने का जज्बा है खास कर उनकी गेंदबाजी आक्रमण में, और मुझे लगता है ऐसा कोहली के नेतृत्व के कारण है.’’
पहले ही वनडे में शतकीय पारी के साथ मैन ऑफ द मैच बनना हर किसी का सपना होता होगा और इस सपने को सच कर दिखाया है साउथ अफ्रीका के रेजा हैंड्रिक्स ने. रेजा हैंड्रिक्स साउथ अफ्रीका के वनडे इतिहास में तीसरे खिलाड़ी बने हैं जिन्होंने पहले ही वनडे में शतक लगाया. उनसे पहले कोलिन इंग्राम और तेम्बा बावुमा ने यह उपलब्धि हासिल की थी. हैंड्रिक्स की शतकीय पारी की बदौलत साउथ अफ्रीका ने श्रीलंका को तीसरे वनडे में 78 रनों से हराकर पांच मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है.

हैंड्रिक्स ने 89 गेंदों पर आठ चौकों और एक छक्के की मदद से 102 रन बनाए. उनके अलावा जेपी डुमिनी ने 70 गेंदों पर 92 रन की तूफानी पारी खेली जबकि हाशिम अमला (59) और डेविड मिलर (51) ने भी अर्द्धशतक जमाए जिससे साउथ अफ्रीका ने सात विकेट पर 363 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया. एशिया में साउथ अफ्रीका की ये तीसरा सबसे बड़ा स्कोर है.

श्रीलंका की टीम इसके जवाब में 45.2 ओवर में 285 रन बनाकर आउट हो गयी. धनंजय डिसिल्वा ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 84 रन बनाए. साउथ अफ्रीका की तरफ से एनगिडी ने चार और एक अन्य तेज गेंदबाज एंडिल फेलुकवायो ने तीन विकेट लिए.

हैंड्रिक्स ने डुमिनी के साथ चौथे विकेट के लिये 78 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की. उन्होंने तेज गेंदबाज लाहिरू कुमारा पर चौका जड़कर 88 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया लेकिन अगली गेंद पर ही आउट हो गए. इसके बाद डुमिनी ने तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी की और मिलर के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिये 103 रन जोड़े.

मिलर के तूफानी अर्द्धशतक और फेलुकवायो के 11 गेंदों पर नाबाद 24 रन से साउथ अफ्रीका अंतिम सात ओवरों में 98 रन जुटाने में सफल रहा. तिसारा परेरा श्रीलंका के सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने 75 रन देकर चार विकेट लिए.
प्रचंड फॉर्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल की शानदार नाबाद दोहरे शतक और भविष्य के स्टार माने जाने वाले पृथ्वी शॉ की शतकीय पारी की बदौलत इंडिया ए ने साउथ अफ्रीका ए के खिलाफ दूसरे दिन ही पकड़ मजबूत कर ली है. दूसरे दिन के स्टंप के समय इंडिया ए ने दो विकेट खोकर 411 रन बना लिए हैं. मयंक 220 रन बनाकर खेल रहे हैं.

पहली पारी के आधार पर इंडिया ए की बढ़त 165 रनों की हो गई है और उसके अभी आठ विकेट शेष है. कप्तान श्रेयस अय्यर नौ रन पर खेल रहे हैं.

अग्रवाल ने पहले विकेट के लिए पृथ्वी शॉ (136) के साथ 277 रन की साझेदारी की. शॉ ने 196 गेंद में 136 रन बनाए. उन्होंने अपनी पारी में 20 चौके और एक छक्का लगाया.

अग्रवाल ने 250 गेंदों की अपनी पारी में 31 चौके और चार छक्के लगाए हैं. उन्होंने दूसरे विकेट के लिए रविकुमार सामर्थ (37) के साथ 118 रनों की साझेदारी की.

इससे पहले साउथ अफ्रीका ए ने आज दिन की शुरूआत आठ विकेट पर 246 रन से आगे से की लेकिन टीम ने बिना कोई रन जोड़े तीन गेंद के अंदर दोनों विकेट गवां दिए. मोहम्मद सिराज (56 रन पर पांच विकेट) ने दिन के पहली ही गेंद पर बेयूरन हेंड्रिक्स को पगबाधा करने के बाद तीसरी गेंद पर डुआने ओलिवियर को खाता खोले बिना चलता कर दिया.

मैच में भारतीय तेज गेंदबाजों ने नौ विकेट झटके जिसमें पांच विकेट लेने वाले सिराज के अलावा नवदीप सैनी (47 रन देकर दो विकेट) और रजनीश गुरबानी (47 रन देकर दो विकेट) ने भी शानदार गेंदबाजी की. लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को एक विकेट मिला.

इंडिया ए ने अपनी पारी की शुरूआत आक्रामक अंदाज में की. शॉ और अग्रवाल ने तेजी से रन बनाने के साथ दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों को पारी की 58वें ओवर तक सफलता से दूर रखा.

साउथ अफ्रीका ए को पहली सफलता डेन पीट (56 रन पर एक विकेट) ने शॉ को बोल्ड कर दिलायी. टीम को दूसरी सफलता समर्थ के विकेट के रूप में मिली जिन्हें ओलिवियर (69 रन पर एक विकेट) ने आउट किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here