हैदराबाद दोहरे विस्फोट मामले में चार सितंबर को आएगा फैसला

0
219

यहां की एक अदालत ने 2007 के हैदराबाद दोहरे बम विस्फोट मामले में फैसला सुनाए जाने की तारीख चार सितंबर तय की है। गोकुल चाट और लुंबिनी पार्क में 25 अगस्त, 2007 को हुए दोहरे बम धमाकों में 42 लोगों की जान चली गई थी और करीब 50 लोग घायल हो गए थे। सात अगस्त को बहस पूरी होने के बाद सत्र न्यायाधीश टी श्रीनिवास राव ने मामले में फैसला आज सुनाया जाना तय किया था। तेलंगाना पुलिस की काउंटर इंटेलिजेंस शाखा ने मामले की जांच की और आरोपियों के खिलाफ तीन आरोप-पत्र दाखिल किए। आरोपियों में से कुछ फरार हैं। अगस्त 2013 में मेट्रोपोलिटन सत्र न्यायाधीश की अदालत ने इंडियन मुजाहिदीन के कथित आतंकवादियों – अनीक शफीक सैयद, मोहम्मद सादिक, अकबर इस्माइल चौधरी और अंसार अहमद बादशाह शेख के खिलाफ आरोप तय किए थे। दोहरे विस्‍फोट और दिलसुखनगर इलाके में फुट ओवरब्रिज के नीचे से एक बम मिलने के संबंध में आरोपियों पर भादंसं की धारा 302 (हत्या) और अन्य संबंधित धाराओं तथा विस्फोटक सामग्री अधिनियम की धाराओं के तहत आरोप तय किए गए हैं। इंडियन मुजाहिदीन के कथित आतंकवादियों को महाराष्ट्र आतंकवाद रोधी दस्ते ने अक्तूबर 2008 में गिरफ्तार किया था और बाद में गुजरात पुलिस ने उन्हें‍ हिरासत में ले लिया था। पूरे मुकदमे के दौरान करीब 170 प्रत्यक्षदर्शियों से सवाल-जवाब किए गए। प्रसिद्ध भोजनालय गोकुल चाट के पास हुए विस्फोट में 32 लोगों की जान चली गई थी जबकि राज्य सचिवालय से सटे लुंबिनी पार्क के खुले थिएटर में हुए विस्फोट में 10 लोग मारे गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.