मौसम अलर्ट: बारिश के बाद दिल्ली-गुड़गांव में ट्रैफिक जाम, मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की चेतावनी, बस्तर बाढ़ से बेहाल

0
195

राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में मंगलवार की सुबह बारिश हुई। यहां का न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने दिन के समय हल्की बारिश और बौछारें पड़ने की संभावना जताई है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी ने कहा, “दिन के दौरान बादल छाए रहेंगे और बारिश होने के आसार हैं।”यहां अधिकतम तापमान के 32.7 डिग्री सेल्सियस के करीब रहने की संभावना है। सुबह साढ़े आठ बजे यहां आर्द्रता का स्तर 1०० प्रतिशत दर्ज किया गया। राजधानी में सोमवार को अधिकतम तापमान 34.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान 26.5 डिग्री सेल्सियस रहा। राजधानी के निकट गुरुग्राम में भारी बारिश से सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ और दिल्ली-जयपुर-मुंबई राजमार्ग पर जलभराव की वजह से यातायात पर असर पड़ा। गुरुग्राम में मंगलवार को भारी बारिश के चलते यातायात प्रभावित हुआ और सामान्य जनजीवन पर भी इसका असर देखने को मिला है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के उप निदेशक ए.आर.एस. सांगवान ने आईएएनएस को बताया, “देर रात दो बजे हल्की बारिश होनी शुरू हुई, लेकिन सुबह चार बजे तेज बारिश होने लगी, जोकि सुबह छह से आठ बजे के बीच भारी बारिश में बदल गई।” सहायक पुलिस आयुक्त हीरा सिंह ने आईएएनएस को बताया कि जलभराव के कारण दिल्ली-जयपुर-मुंबई राजमार्ग पर यातायात बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा, “हमारी टीम परिवहन संचालन को पटरी पर लाने की कोशिश कर रही है।” बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के अधिकांश हिस्सों में मंगलवार को हल्के बादल छाए हुए है। पटना का मंगलवार को न्यूनतम तापमान 27.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार, राज्य के अधिकांश हिस्सों में बादल छाए हुए हैं और अगले 24 घंटे के दौरान झारखंड से सटे क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है, जिससे तापमान में गिरावट आने की संभावना है। राज्य के अन्य शहरों, भागलपुर का मंगलवार का न्यूनतम तापमान 27.5 डिग्री सेल्सियस, गया का 26.6 डिग्री तथा पूर्णिया का 27.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पटना का मंगलवार को अधिकतम तापमान 33.0 डिग्री सेल्सियस के करीब रहने के आसार हैं। सोमवार को पटना का अधिकतम तापमान 33.4 डिग्री सेल्सियस तथा न्यूनतम तापमान 26.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में अगले 24 घंटे में बहुत तेज बारिश होने की आशंका जताई है। विभाग ने कहा है कि आगामी 24 घंटों के दौरान पूर्वी मध्यप्रदेश के सागर, रीवा, शहडोल, जबलपुर संभागों के जिलों में अधिकतर स्थानों पर मध्यम वर्षा के साथ साथ कहीं-कहीं भारी वर्षा हो सकती है। प्रदेश के शेष हिस्सों के जिलों में अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा या फुहारों की संभावना है। दरअसल उत्तरी तटीय ओडिशा और उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी, दक्षिण-पश्चिम पश्चिम बंगाल और दक्षिणपूर्व झारखंड के ऊपर चिह्नित कम दबाव वाला क्षेत्र अब उत्तरी ओडिशा और आसपास के क्षेत्रों में कम दबाव वाले क्षेत्र के रूप में मौजूद है। इस क्षेत्र से संबंधित चक्रवाती परिसंचरण का ऊंचाई के साथ झुकाव दक्षिण-पश्चिम दिशा की ओर है और इसी के चलते मध्यप्रदेश में एक बार फिर विभिन्न हिस्सों में बारिश का दौर शुरु हो गया है। छत्तीसगढ के बस्तर संभाग में पिछले तीन दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश ने बाढ़ की स्थिति पैदा कर दी है। संभाग की प्रमुख नदियां इंद्रावती, संकनी, डंकनी, शबरी ओर छोटे-छोटे नदी नाले उफान पर हैं। जगदलपुर स्थित इंद्रावती नदी का जल स्तर चेतावनी के स्तर को पार कर खतरे के निशान से मात्र एक मीटर कम है। बारिश के चलते दो लोगों की मौत की खबर है, वहीं अलग-अलग जिलों में कई राहत शिविर लगाये गए हैं। आधिकारिक जानकारी के अनुसार संभाग के कोंडागांव जिले में कल शाम एक नाले में एक महिला गिरकर बह गयी। उसका अब तक कुछ पता नहीं चल सका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.