नवाज शरीफ के करप्शन के खिलाफ जीते इमरान खान की सरकार में पहला भ्रष्टाचार इस्तीफा

0
84

हाल में ही पाकिस्तान आम चुनावों में पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने जीत दर्ज की जिसके बाद इमरान खान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री चुने गए. पाक प्रधानमंत्री बने एक महीना भी नहीं हुआ कि इमरान खान के संसदीय कार्य सलाहकार बाबर अवान को भ्रष्टाचार के चलते इस्तीफा देना पड़ा. मंगलवार को एंटी ग्राफ्ट एजेंसी ने बाबर अवान के खिलाफ केस दर्ज किया जिसके बाद उन्हें इस्तीफा सौंपना पड़ा.

इमरान खान के संसदीय कार्य सलाहकार बावर अवान ने अपना इस्तीफा सौंप दिया है. बता दें बावर अवान को इमरान खान का राइट हैंड कहा जाता है. उन्होंने अपने ट्विवर पर लिखा कि वह अपने संसदीय कार्य मंत्रालय से इस्तीफा सौंपने के लिए प्रधानमंत्री आवास गए थे. कानून का शासन मुझसे ही शुरु होता है. मैं धन्यवाद देता हूं जो हमेशा मेरे साथ थे मैं उन्हें कभी निराश नहीं होने दूंगा.

पाकिस्तान की मीडिया की मानें तो नेशनल अकाउंटबिलिटी ब्यूरो ने बाबर अवान के खिलाफ ये केस इस्लामाबाद के नंदीपुर प्रोजेक्ट के देरी के चलते दर्ज किया गया. इस मामले में बीते रविवार को बाबर से तीन घंटे पूछताछ की गई. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रिपोर्ट में कहा गया है कि उप निदेशक असमा चौधरी के नेतृत्व में एनएबी के रावलपिंडी चेप्टर में एक टीम ने पंजाब प्रांत केबावर अवान ने परियोजना के फाइल को कई महीनों दबाए रखा था जिसे लेकर उनसे सवाल किए गए. इस देरी की वजह से देश को अरबों रुपये का नुकसान हुआ. केंद्र में 2008-2013 के दौरान पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की अगुवाई सरकार में यह परियोजना में देरी हुई जिस समय अवान कानून एवं न्याय मंत्री थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here