गैरकानूनी तरीके से चल रहे पैथोलॉजी लैब को लेकर दिल्ली सरकार को नोटिस

0
85

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गैरकानूनी तरीके से चल रहे पैथोलॉजी लेब को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया है. दरअसल धड़ल्ले से चल रहे पैथोलॉजी लेब को बंद कराने के लिए एक जनहित याचिका दायर की गई थी. याचिका में कहा गया कि पूरी दिल्ली में पैथोलॉजी लैब कुकुरमुत्ते की तरह खुल गए हैं. अवैध रूप से चल रहे पैथोलॉजी लैब आम लोगों के लिए बड़ा खतरा है. याचिका में इस तरह के लैब पर नियंत्रण के लिए दिल्ली सरकार को दिशा निर्देश देने की बात कही गई है.

यह जनहित याचिका बिजौन कुमार मिश्रा की तरफ से दायर की गई. याचिका में कोर्ट से गुहार लगाई गई कि अवैध रूप से दिल्ली के हर गली नुक्कड़ में खुल चुके पैथोलॉजी लैब को तुरंत बंद किया जाए.

याचिकाकर्ता का दावा है कि इस तरह की पैथोलॉजी लैब में अप्रशिक्षित टेक्नीशियन रखे जाते हैं, जिनको लैब में काम करने का कोई अनुभव भी नहीं होता है. अप्रशिक्षित टेक्नीशियंस के पास पैथोलॉजी लैब चलाने के लिए न तो आवश्यक डिग्री होती है और न ही ये रजिस्टर टेक्नीशियन होते हैं. जबकि इन दोनों शर्तों को पूरा किए बिना पैथोलॉजी लैब न तो शुरू की जा सकती है और न ही चलाई जा सकती है.

याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में कहा है कि दिल्ली सरकार पैथोलॉजी लैब खोलने के लिए बनाई गई पॉलिसी पर दोबारा विचार करे. जैसे यह सुनिश्चित हो सके की अप्रशिक्षित टेक्नीशियन लैब को नहीं चलाएंगे. याचिका में जोर दिया गया है कि फिलहाल दिल्ली में अवैध ढंग से जो पैथोलॉजी लैब चल रहे हैं वह मरीजों के लिए जानलेवा हैं. ऐसे में मरीजों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली सरकार को कड़े मापदंड बनाने की जरूरत है जिससे अवैध रूप से चल रहे पैथोलॉजी लैब पर लगाम लगाई जा सके. इसके अलावा आगे भी इस तरह के अवैध पैथोलॉजी लैब राजधानी में न खुल सके इस सरकार सुनिश्चित करे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here