BJP की बैठक में बोले अमित शाह- अगले 7 महीने सिर्फ़ दो चीज़ें याद रखें ‘भारत माता’ और ‘कमल का फूल’,

0
133

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू हो चुकी है. इसमें बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, पीएम मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और विदेश मंत्री सुषमा समेत अन्य बीजेपी नेता हिस्सा ले रहे हैं.

इससे पहले शनिवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की पार्टी के पदाधिकारियों के साथ बैठक हुई, जिसमें विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई. चार राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले आयोजित इस बैठक में एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के बाद जो हालात बने हैं, उस पर चर्चा की जाएगी.

इसके अलावा पार्टी 2019 के आम चुनाव और राज्यों के विधानसभा चुनावों के लिए रणनीति पर भी चर्चा करेगी. साथ ही एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के मसले पर विपक्ष को किस तरीके से जवाब देना है और जो भ्रम की स्थिति खड़ी हुई, उससे किस तरीके से निपटा जाए, इस पर भी चर्चा संभव है. राष्ट्रीय कार्यकारिणी में पार्टी एनआरसी को लेकर भी बड़े पैमाने पर चर्चा करने जा रही है.

>रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की अनुपस्थिति में पहली बार हुई बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक.

>बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और सुब्रमण्यम स्वामी समेत अन्य बीजेपी नेता भी पहुंचे. (फोटो- प्रदीप गुप्ता)

> पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, वित्तमंत्री अरुण जेटली ने पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक से पहले श्यामा प्रसाद मुखर्जी और दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर के सामने दीप प्रज्वलित किया.

>प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में हिस्सा लेने के लिए अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर पहुंचे.

>बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में हिस्सा लेने के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज समेत अन्य नेता अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर पहुंचे.

-सूत्रों के मुताबिक अमित शाह ने राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में कहा कि हमें उन तीस करोड़ लोगों तक पहुंचना है जो मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थी हैं. ऐसे लाभार्थियों का डाटा एकत्रित किया गया है और इनसे संपर्क करने के लिए कॉल सेंटर खोले जा रहे हैं.

-अमित शाह ने कहा कि हमें उन तीस करोड़ लोगों तक पहुंचना है जो मोदी सरकार के ग़रीब कल्याण योजनाओं के लाभार्थी हैं.

-बैठक में तय किया गया कि अमित शाह को अध्यक्ष के तौर पर 1 साल का और कार्यकाल दिया जाएगा. जनवरी 2019 में अमित शाह का कार्यकाल खत्म होना था. 1 साल के बाद ही संगठन चुनाव होंगे.

-बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता हरीश खुराना बेहोश हुए. उन्हें राम मनहोर लोहिया अस्पताल ले जाया गया है.

-अमित शाह पदाधिकारियों की बैठक में बोले कि हमको 2014 से ज्यादा प्रचंड बहुमत के साथ 2019 में जितना है. हमारे पास दुनिया का सर्वाधिक लोकप्रिय है नेता नरेंद्र मोदी हैं. उन्होंने कहा कि 3 राज्यों के विधानसभा चुनाव के अलावा तेलंगाना पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा.
-भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की राष्ट्रीय पदाधिकारियों, प्रदेश अध्यक्षों और संगठन महामंत्रियों के साथ बैठक शुरू
-राष्ट्रीय पदाधिकारियों के साथ बैठक से पहले अमित शाह ने अंबेडकर की प्रतिमा पर फूल चढ़ाए
-राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक अंबेडकर इंटरनेशल सेंटर में होगी, जहां पार्टी नेताओं की चहल पहल देखी जा सकती है.
बैठक में केंद्र सरकार की उपलब्धियों पर भी प्रमुखता से चर्चा की जाएगी. पार्टी के सूत्रों का कहना है कि बैठक में हर राज्य के अध्यक्षों की तरफ से राज्य का रिपोर्ट कार्ड पेश किया जाएगा. इसके अलावा बैठक में सरकार की उपलब्धियों, खासकर बुनियादी ढांचे के विकास, दो करोड़ ग्रामीण आवास, उज्ज्वला गैस कनेक्शन, खुले में शौच मुक्त गांव और इस वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी में हुई बढ़ोतरी पर चर्चा होगी.

चुनावों की दशा-दिशा पर चर्चा

प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने बताया कि शनिवार शाम तीन बजे से राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मुख्‍य बैठक शुरू होगी. इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित तमाम पार्टी के बड़े नेता मौजूद रहेंगे. इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का भाषण होगा. इस भाषण में आने वाले चार राज्यों के चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव की दशा-दिशा तय होगी.बैठक में राजनीतिक और आर्थिक प्रस्ताव पास किए जाएंगे. वहीं दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समापन भाषण देंगे. शाहनवाज हुसैन ने बताया कि अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद राष्ट्रीय कार्यकारिणी की पहली बैठक है. ऐसे में बैठक में वाजपेयी जी को याद किया जाना स्वाभाविक है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here