पूर्णिया के रिमांड होम में दो की हत्या, पांच बाल कैदी फरार

0
45

पूर्णिया रिमांड होम के पांच बाल कैदियों ने बुधवार की शाम हाउस फादर समेत दो लोगों की हत्या कर दी. घटना को अंजाम देने के बाद पांचों कैदी हवाई फायरिंग करते हुए रिमांड होम से फरार हो गये.

मरनेवालों में हाउस फादर बिजेंद्र कुमार और बाल कैदी सरोज कुमार शामिल हैं. विजेंद्र पूर्णिया के गढ़बनैली के रहनेवाले थे, जबकि सराेज मधेपुरा जिले का निवासी था. घटना के बाद रिमांड होम में दहशत का माहौल है.

सूचना मिलते ही मौके पर पूर्णिया के डीएम प्रदीप कुमार झा और एसपी विशाल शर्मा रिमांड होम पहुंचे और हालात का जायजा लिया. प्रत्यशक्षदर्शी बाल कैदियों ने बताया कि बुधवार की शाम भारत-पाकिस्तान का मैच चल रहा था. सभी लड़के मैच देख रहे थे. हाउस फादर भी साथ में मैच देख रहे थे. अचानक गोली की आवाज सुनाई पड़ी. गोली चलते ही अफरा-तफरी मच गयी.

सभी लड़के इधर-उधर भागने लगे. जब कुछ शांत हुआ, तब देखा कि हाउस फादर खून से लथपथ जमीन पर गिरे हुए थे. इसके कुछ ही दूरी पर सरोज गिरा पड़ा था. दोनों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, जहां रास्ते में दोनों की मौत हो गयी.

डीएम ने बताया कि गोली चलाने वाले जिन पांच बाल कैदियों की पहचान की गयी है, उनमें पूर्णिया के ब्रजेश कुमार, शुभम कुशवाहा व कल्लू काला और मधेपुरा के विकास कुमार व राजा कुमार शामिल हैं. सभी िबंदुओं पर पड़ताल की जा रही है.

रिमांड होम के लड़कों ने बताया कि मृत सरोज कुमार से ब्रजेश कुमार, शुभम कुशवाहा, कल्लू काला, राजा और विकास का विवाद चल रहा था. दो दिन पूर्व रिमांड होम में कोरेक्स कप सिरप की बरामदगी हुई थी. इन पांचों का आरोप था कि सरोज ने ही इन लोगों को फंसाया है. इस मामले में हाउस फादर बिजेंद्र कुमार ने उन पांचों से सख्ती से पूछताछ की थी. इसी बात को लेकर सभी पांचों बच्चे आक्रोशित थे. माना जा रहा है कि एक योजनाबद्ध तरीके से उन पांचों ने बदले की भावना से इस घटना को अंजाम दिया. लड़कों ने बताया कि करीब छह माह पूर्व मधेपुरा से सरोज कुमार रिमांड होम आया था.

बताया जाता है कि दो दिन पूर्व जांच के दौरान रिमांड होम में कोरेक्स समेत अन्य नशीली दवाइयां बरामद की गयी थीं. जांच के दौरान इन्हीं पांचों लड़कों के नाम आये थे. कहा जाता है कि इसी के कारण इनलोगों ने घटना को अंजाम दिया. फिलहाल पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here