राजनाथ के बाद BSF डीजी बोले- अपने जवान की शहादत का बदला ले लिया

0
57

पाकिस्तान के खिलाफ की गई सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने के मौके पर एक बार फिर भारतीय सुरक्षाबलों ने मुंहतोड़ जवाब देकर अपने एक जवान की शहादत का बदला लिया है. सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) ने शुक्रवार को बताया कि अपने सैनिक की मौत का बदला लेने के लिए हमने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पर्याप्त कार्रवाई की है.

बीएसएफ के निवर्तमान महानिदेशक के के शर्मा ने बताया, ‘अपने सैनिक (नरेंद्र शर्मा) की मौत का बदला लेने के लिए हमने नियंत्रण रेखा पर पर्याप्त कार्रवाई की है. हमारे पास उचित समय पर और अपनी पसंद के स्थान पर जवाबी कार्रवाई करने का अधिकार है.’

बीते 18 सितंबर को एलओसी पर पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम के हमले में हेड कांस्टेबल नरेंद्र सिंह की शहादत हो गई थी. के के शर्मा ने बताया, ‘जिस समय यह घटना हुई, उस समय हमने देखा कि दूसरा पक्ष गायब हो गया. वे कहीं नहीं दिखे.’ उन्होंने कहा, ‘बी एस एफ ने बहुत कड़ी और मुंहतोड़ कार्रवाई की है दूसरे पक्ष को हमेशा के मुकाबले कहीं अधिक नुकसान पहुंचाया है. हम दोबारा भी यह करेंगे.’

30 सितंबर को सेवानिवृत्त होने जा रहे शर्मा ने बताया कि जवान के सीने में तीन गोलियां मारी गईं, उन्हें बाड़ के दूसरी तरफ खींचकर ले जाया गया, उनके पैर बांध दिए गए और गला रेत दिया गया. उन्होंने कहा, ‘शव को विकृत नहीं किया गया.’

बीएसएफ डीजी के बयान से मिलता-जुलता बयान ही केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी दिया है. शुक्रवार को उन्होंने मुजफ्फरनगर में एक कार्यक्रम के दौरान बताया कि दो साल पहले की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बावजूद भी पाकिस्तान अपनी करतूत से बाज नहीं आ रहा है और हम उसे सही ढंग में जवाब दे रहे हैं.

उन्होंने बताया कि हमारे बीएसएफ जवान के साथ बदतमीजी हुई थी, जवाब में दो दिन पहले भी हमारी तरफ से ठीक-ठाक हुआ. मैंने बीएसएफ के जवानों को कहा है कि पड़ोसी हैं पहली गोली मत चलाना, लेकिन उधर से एक गोली चले तो फिर अपनी गोली मत गिनना.

वहीं, बीएसएफ प्रमुख ने कहा कि जम्मू के रामगढ़ सेक्टर में सात अन्य कर्मियों के साथ बाड़ के पास गए जवान की बंदूक और गोला बारूद को (हमलावर) साथ ले गए. उन्होंने ये भी कहा, ‘यह घटना अपने आप में पहली तरह की घटना है क्योंकि आम तौर पर अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बैट की कार्रवाई देखने को नहीं मिलती…यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है.’

केके शर्मा ने सख्त लहजे में कहा कि नियंत्रण रेखा पर कुछ जवाबी कार्रवाई पहले ही की जा चुकी है तथा अभी और अधिक की जाएगी. शर्मा ने कहा कि पाकिस्तानी पक्ष ने भारत की तरफ से ‘सर्जिकल स्टाइक’ जैसी घटना की आशंका से अपनी तरफ अंतरराष्ट्रीय सीमा से लेकर लगभग पांच किलोमीटर तक का क्षेत्र खाली कर दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here