मीसा भारती के बयान पर तेजस्वी ने साधी चुप्पी, डैमेज कंट्रोल में जुटे राजद नेता

0
167

मीसा भारती के बयान के बाद बैकफुट पर आई आरजेडी में अब वरिष्ठ नेता स्थिति को संभालने में लगे हुए हैं तो वहीं तेजस्वी बहन के विवादित बयान पर कुछ भी बोलने से परहेज करते दिखे। पार्टी उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने मीसा भारती के बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश करने के लिए बीजेपी और जदयू जिम्मेदार बताया है।

शिवानंद तिवारी ने कहा कि लालू परिवार में फूट की तलाश करना रोचक और रसीला काम है। राजनीति से लेकर मीडिया तक को इसमें बहुत रस मिलता है। मनेर की लिट्टी पार्टी में मीसा के भाषण पर गरमा गरम चरचा है।‘जब पाँचो उंगलियां बराबर नहीं हैं, जब हमारे घर में भाई-भाई में नहीं पटता है। तब राजद तो बहुत बड़ा परिवार है।’

अब इस भाषण के ‘हमारे घर’ को ‘मेरा घर’ बनाकर भाई लोग ले उड़े। कल यह सुर्खियों में होगा। रोज़ाना गरियाने के लिए बहाल लोग ज़ोर-ज़ोर से से भविष्यवाणी करेंगे। ‘परिवार में गृहयुद्ध हो रहा है।’ राजद का ‘इतिश्री’ हो रहा है। लोग इस मुग़ालते में रहें, हमें ख़ुशी होगी। ऐसों को भारी निराशा हाथ लगने वाली है। क्योंकि न तो लालू परिवार में कोई समस्या है और न राजद परिवार में। बिहार ने मन बना लिया है. 2014 के बिहार के लोकसभा चुनाव नतीजा को 2019 में उलट देना है।

लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों के बीच मतभेद स्वीकार करने के बाद मीसा भारती भी अपने बयान से पलट गई हैं। उनके मुताबिक यह टिप्पणी परिवार के लिए नहीं दी गई थी। मीसा ने सफाई देते हुए कहा, ‘मेरे बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है। मैंने पार्टी कार्यकर्ताओं को एकजुट रहने और मतभेदों को भूलने के लिए कहा था, टिप्पणी हमारे परिवार पर नहीं थी। परिवार एक है और हमारे बीच कोई अंतर नहीं है।’

जैसे ही लालू यादव की बेटी मीसा भारती ने सार्वजनिक तौर पर अपने पिता के उत्तराधिकारी तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव के बीच तकरार की सच्चाई सामने रखी, सबकी नज़रें दोनो भाइयों की प्रतिक्रिया पर टिकी थी।

इसी बीच तेजस्वी यादव दिल्ली से पटना पहुंचे और पत्रकारों ने उन्हें घेर लिया। जब बड़े भाई तेज प्रताप के साथ खटपट पर उनसे सवाल पूछा गया तो वे असहज हो गए और ये कहते हुए गाड़ी में बैठ गए कि उन्हें इस पर कुछ नहीं कहना है।

हालांकि तेजस्वी यादव ने इस सवाल से पहले गुजारत में बिहारियों पर हो रहे हमले और सुपौल में कस्तूरबा आवासीय स्कूल की लड़कियों पर हमले के मुद्दे पर नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार सरकार को जम कर कोसा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.