चक्रवाती तूफान ‘तितली’ ने दी दस्तक, पेड़ और खंभे उखड़े, दो की मौत

0
202

भुवनेश्वर : बंगाल की खाड़ी पर बने दबाव के कारण आया चक्रवाती तूफान ‘तितली’ भयावह रूप लेता नजर आ रहा है. बेहद गंभीर चक्रवात तितली ने गुरुवार तड़के ओडिशा के गंजम जिले के गोपालपुर में दस्तक दी. इस दौरान हवा की रफ्तार 126 किलोमीटर प्रति घंटा थी. प्रचंड चक्रवात तितली के कारण पेड़ और खंभे उखड़ गये तथा कच्चे मकान क्षतिग्रस्त हो गये.

तूफान को लेकर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सरकार और प्रशासन अलर्ट पर हैं. हर किसी के लिए यह आगे आने का समय है. मुझे उम्मीद है कि सबके सहयोग के साथ इस संकट से निपट लिया जाएगा. इधर, आंध्र प्रदेश में ‘तितली’ तूफान की वजह से 2 लोगों की मौत की खबर है. आंध्र प्रदेश के सीएम एन चंद्रबाबू नायडू आज दोपहर को ‘तितली’ तूफान से प्रभावित श्रीकाकुलम के इलाकों का दौरा करेंगे.

ओडिशा में चक्रवात से कम से कम तीन जिलों में भारी बारिश हुई और बिजली तथा संचार की समस्या पैदा हुई. विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) बी पी सेठी ने कहा, ‘‘कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ या राज्य के किसी हिस्से से अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. गंजम और गजपति जिलों में थोड़ा नुकसान हुआ.’

एसआरसी ने बताया कि बिजली आपूर्ति और टेलीफोन संपर्क बाधित हुआ तथा गजपति जिले में कई स्थानों पर पेड़ उखड़ने से सड़क संपर्क बाधित हुआ. उन्होंने बताया कि सड़कों को साफ करने तथा प्रभावित इलाकों में बिजली आपूर्ति बहाल करने की कोशिशें चल रही हैं. उन्होंने बताया कि गंजम, गजपति, खुर्दा, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक और बालासोर ‘‘बेहद प्रचंड चक्रवात तितली’ से प्रभावित हुए. चक्रवात के कारण ओडिशा के गंजम, गजपति और पुरी जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा हुई जबकि गंजम में पेड़ गिरने से कच्चे मकानों और स्ट्रीट लाइटों के क्षतिग्रस्त होने तथा सड़कें अवरुद्ध होने की खबरें हैं. गजपति में परालाखेमुंडी और मोहना के बीच तथा कुछ अन्य मंडलों में चक्रवात के कारण सड़क संपर्क बाधित हो गया.

भारतीय मौसम विभाग ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि चक्रवात ‘तितली’ आंध्र प्रदेश में पलासा के समीप गोपालपुर के दक्षिण-पश्चिम तट पर सुबह साढ़े चार और साढ़े पांच बजे के बीच पहुंचा. चक्रवात के साथ 140-150 किलोमीटर से 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली. जमीन पर दस्तक देने के बाद तूफान के धीरे-धीरे उत्तर-पूर्व में फिर से वक्र करके ओडिशा को पार करके गंगा से लगे पश्चिम बंगाल के हिस्से की तरफ बढ़ने और फिर धीरे-धीरे कमजोर पड़ने की संभावना है.

ओडिशा के गोपालपुर में सतह पर हवा की रफ्तार 126 किमी प्रति घंटे थी जबकि आंध्र प्रदेश के कलिंगपत्तनम में इसकी रफ्तार 56 किमी प्रति घंटे दर्ज की गयी. चक्रवात के दस्तक देने के बाद तितली के प्रभावस्वरूप ओडिशा के गंजम, गजपति और पुरी में तेज हवा के साथ अच्छी वर्षा हो रही है. भुवनेश्वर स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक एच आर विश्वास ने कहा कि बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान (वीएससीएस), ‘तितली’ की निगरानी विशाखापत्तनम, गोपालपुर और पारादीप स्थित तटीय डॉप्लर मौसम रडार द्वारा की जा रही है.

चक्रवात से निपटने की तैयारी के तौर पर ओडिशा सरकार ने पांच तटीय जिलों के निचले इलाकों में रह रहे तीन लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा है. वे 1,112 चक्रवात शिविरों में रह रहे हैं. एसआरसी ने बताया कि गंजम जिले में 105 और जगतसिंहपुर में 18 गर्भवती महिलाओं को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. उन्होंने बताया कि दमकल कर्मियों के साथ राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और ओडिशा आपदा त्वरित कार्रवाई बल (ओडीआरएएफ) की 13 टीमों को कई स्थानों पर तैनात किया गया है.

तीन लाख लोग सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाये गये
चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के बेहद प्रचंड रूप लेने और ओडिशा तट की ओर आगे बढ़ने के बीच राज्य सरकार ने पांच तटीय जिलों के निचले क्षेत्रों से तीन लाख से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है. पूरी तरह चौकस ओड़िशा सरकार ने इस आपदा का सामना करने के लिए अपनी पूरी मशीनरी झोंक दी है. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा है कि इस भयंकर चक्रवात के मद्देनजर हमने पहले ही तीन लाख लोगों को वहां से खाली करा दिया है तथा और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा सकता है.

11-12 अक्टूबर को होने वाली रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा रद्द
तूफान के मद्देनजर सभी स्कूलों, कॉलेजों और आंगनवाड़ी केंद्रों को गुरुवार और शुक्रवार को बंद रखने का आदेश दे दिया गया है. इसके साथ ही गुरुवार को होने वाले कॉलेज छात्र संघ चुनाव भी रद्द कर दिये गये हैं. इधर चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के मद्देनजर 11 और 12 अक्टूबर को भुवनेश्वर, कटक, ढेंकनाल, संभलपुर, खुर्दा और बेरहमपुर में होने वाली रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा रद्द कर दी गयी है. नयी तारीख और जगह का विवरण अभ्यर्थियों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और ई-मेल पर भेज दिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.