ये रिकॉर्ड बताते हैं कि गब्बर से क्यों आज भी खौफ खाते हैं गेंदबाज

0
52

नई दिल्ली: टीम इंडिया में गब्बर के नाम से मशहूर शिखर धवन बुधवार को अपना 33वां जन्मदिन मना रहे हैं. टीम इंडिया में ओपनिंग करने वाले दिल्ली के इस बल्लेबाज का जन्म 5 दिसंबर 1985 को दिल्ली में हुआ था. शिखर इस समय टीम इंडिया के खास बल्लेबाज हैं, लेकिन केवल टी20 और वनडे फॉर्मेंट में. हाल ही में ऑस्ट्रेलिया दौरे गई टीम इंडिया की टेस्ट टीम में शिखर धवन का नाम नहीं है, जब कि इसी दौरे की टी20 सीरीज में वे मैन ऑफ द सीरीज रहे थे. वहीं शिखर का करियर रिकॉर्ड एक अलग कहानी कहता है जिससे पता चलता है कि वे एक बेमिसाल बल्लेबाज हैं.

ऑस्ट्रेलिया से शिखर का गहरा नाता है. 20 अक्टूबर 2010 में ही शिखर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही अपने वनडे करियर की शुरुआत की थी और 2013 में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही अपना पहला टेस्ट मैच भी खेला था. शिखर की पत्नी ऑस्ट्रेलिया की ही हैं. उनका करियर रिकॉर्ड विदेशी पिचों पर शानदार रहा है, लेकिन यह साल उनके टेस्ट करियर के लिए अच्छा नहीं रहा. बावजूद इसके उन्होंने इसका असर अपने वनडे और टी20 मैचौं पर पड़ने नहीं दिया.

डेब्यू टेस्ट में ही लगा डाली शानदार सेंचुरी
2013 में ऑस्ट्रेलिया टीम के भारत दौरे की टेस्ट सीरीज के तीसरे टेस्ट में धवन को अपना टेस्ट करियर शुरू करने का मौका मिला. चंडीगढ़ में हुए इस कंगारू टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया शिखर ने इस मौका का खूब फायदा उठाया और उन्होंने केवल 174 गेंदों में 33 चौके और दो छक्कों की मदद से 187 रन बनाए, जिससे टीम इंडिया ने पहली पारी में 408 रन बनाए. शिखर की पारी की सबसे खास बात यह थी की उनका शतक डेब्यू टेस्ट का सबसे तेज शतक था. शिखर ने अपनी यह सेंचुरी केवल 85 गेंदों में पूरी की थी. यह रिकॉर्ड आज भी बरकरार है. पहले ऐसे भारतीय बल्लेबाज बने जिन्होंने किसी भी टेस्ट मैच के पहले दिन पहली पारी में लंच से पहले शतक लगाया.

इतने सारे शानदार रिकॉर्ड्स
धवन अपने वनडे डेब्यू साल यानि 2013 में ही इंटरनेशनल प्लेयर ऑफ द ईयर बन गए थे. आइसीसी विश्व कप 2015 में वे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज रहे थे. धवन आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2013 और 2017 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. 2014 में विजडन क्रिकेटर ऑफ द ईयर का खिताब उन्होंने जीता था. साल 2018 में दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान उन्होंने भारत की ओर से टी 20 सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाए थे. भारतीय खिलाड़ी के तौर पर उन्होंने साल 2018 निदाहस ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन बनाए थे. साल 2018 में उन्हें इंटरनेशनल बैट्समैन ऑफ द ईयर चुना गया. वनडे क्रिकेट में भारतीय खिलाड़ी के तौर पर उन्होंने सबसे तेज 1000, 2000 और 3000 रन पूरे किए. आइसीसी टूर्नामेंट्स में सबसे तेज 1000 रन बनाने वाले खिलाड़ी धवन ही हैं. इस वर्ष यानी वर्ष 2018 में टी 20 क्रिकेट में वो अब तक सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं.

यह कहानी कह रहा है रिकॉर्ड
वनडे टी20 में अपार सफलता पाने वाले शिखर टेस्ट में ज्यादा सफल नहीं हैं, खासकर विदेशी पिचों पर. हालाकि घेरलू टेस्ट मैचों में उनका रिकॉर्ड काफी बढ़िया रहा है. अब तक 34 टेस्ट मैचों में 40.61 के औसत और सात शतकों के साथ 2315 रन बनाए हैं, जिसमें उनका सर्वोच्च स्कोर 190 है. देश से बाहर धवन ने 23 टेस्ट की 41 पारियों में 39 पारियों में उन्होंने 1605 रन बनाए हैं. विदेशों में धवन ने अपनी सात में पांच सेंचुरी और पांत में तीन हाफ सेंचुरी लगाई हैं.

इस साल ऐसा रहा उनका टेस्ट रिकॉर्ड
औसत में कोई बहुत अंतर नहीं है. घरेलू मैदानों पर उनका औसत जहां 44.37 है तो विदेशी पिचों पर ज्यादा मैच खेलकर भी 39.14 है. यूं तो शिखर का यह रिकॉर्ड बढ़िया है लेकिन उनका हालिया विदेशी दौरों का प्रदर्शन निराशाजनक है. इस साल दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में शिखर ने पांच मैचों की दस पारियों में 19.40 के औसत से 194 रन बनाए हैं जिसमें 44 सर्वोच्च है. मजेदार बात यह है कि इस फॉर्म का असर उनकी वनडे और टी20 पारियों पर नहीं पड़ा.

वनडे उन्होंने अब तक 115 वनडे मैचों में 45.69 का औसत से 4935 रन बनाए हैं, जिनमें 15 शतक शामिल हैं. यहां उनका सर्वोच्च स्कोर 137 रन रहा है. वहीं 46 टी 20 मैचों में उन्होंने 1232 रन बनाए हैं और उनका सर्वोच्च स्कोर 92 रन है. अभी शिखर वनडे रैंकिंग में 8वें और टी20 रैंकिंग में 11वें स्थान पर हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here