HDFC बैंक का बढ़ा मुनाफा, SBI ने इस तरह से जुटाए 1.25 अरब डॉलर

0
79

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने विदेशी बाजार से बांड के जरिए 1.25 अरब डॉलर की राशि जुटाई है. एसबीआई की ओर से शनिवार को बताया कि दुनियाभर में उसके बांड को निवेशकों ने हाथों हाथ लिया, उसे 122 से अधिक खातों से 3.2 अरब डॉलर का ऑर्डर मिला.

SBI का कहना है कि उसने विदेशी पूंजी बाजारों में भी अपने लिए गंभीर निवेशकों का एक आधार तैयार किया है. ये बांड गुजरात के गिफ्ट सिटी में स्थित आईएफएसी में बीएसई की अनुषंगी इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज आईएफएससी लिमिटेड में सूचीबद्ध होंगे.

HDFC बैंक का मुनाफा बढ़ा
वहीं एचडीएफसी बैंक का मौजूदा वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में बड़ी कामयाबी मिली है. बैंक का शुद्ध लाभ 20.3 प्रतिशत बढ़कर 5,585.9 करोड़ रुपये रहा. बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पिछले साल की इसी अवधि में उसने 4,642.6 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा अर्जित किया था.

HDFC बैंक ने कहा कि इस साल अक्टूबर-दिसंबर के बीच उसकी कुल आय बढ़कर 30,811.27 करोड़ रुपये हो गई, पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह आंकड़ा 24,450.44 करोड़ रुपये था. बयान में कहा गया है कि 31 दिसंबर, 2018 को समाप्त तिमाही में बैंक की शुद्ध ब्याज आय (ब्याज की प्राप्ति और ब्याज पर खर्च के बीच का अंतर) 21.9 फीसदी बढ़कर 12,576.8 करोड़ रुपये रही, पिछले साल इसी अवधि में यह आंकड़ा 10,314.3 करोड़ रुपये रहा था.

यह वृद्धि ऋण कारोबार में 23.7 फीसदी की तेजी का नतीजा है. इस दौरान बैंक की शुद्ध ब्याज मार्जिन 4.3 प्रतिशत रही, अक्टूबर-दिसंबर, 2018 के दौरान बैंक की सकल गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) भी पिछले साले की इसी अ‍वधि के 1.29 प्रतिशत से बढ़कर 1.38 प्रतिशत हो गईं. हालांकि बैंक का शुद्ध एनपीए 0.42 प्रतिशत रही. यह आंकड़ा पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 0.44 प्रतिशत पर था.

बैंक की कुल बैलेंस-शीट सालाना आधार पर 22 प्रतिशत बढ़कर 11,68,556 करोड़ रुपये रही, जबकि 31 दिसंबर 2017 को इसी संपत्तियों और देनदारियों का लेखा-जोखा 9,49,079 करोड़ रुपये का था. बैंक की कुल जमा इसी दौरान 22 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 8,52,502 करोड़ रुपये और बाजार में बकाया ऋण 24 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 7,80,951 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.