मुंबई,भारतीय महिला उजमा अहमद को पाकिस्तान की सरजमी से हिंदुस्तान वापस लाने में मदद करने वाले भारतीय राजदूत की कहानी अब बड़े पर्दे पर आने के लिए तैयार है। कथित रूप से उजमा को पाकिस्तान में उसकी इच्छा के खिलाफ जबरन शादी करने के लिए मजबूर किया गया था।

समीर दीक्षित, जतिश शर्मा, गिरीश जौहर और केवल गर्ग की अगुवाई वाली मूवी स्टूडियोज इस्लामाबाद में भारत के पूर्व उप उच्चायुक्त जे.पी. सिंह की वास्तविक जीवन की कहानी पर फिल्म बना रही है, जिन्होंने 2017 में उजमा की घर वापसी में मदद की थी।

फिल्म के पटकथा लेखक रितेश शाह हैं जो ‘कहानी’, ‘पिंक’, ‘एयरलिफ्ट’ और ‘रेड’ की पटकथा लिख चुके हैं।

फिल्म के निर्माताओं ने फरवरी में सिंह से मुलाकात की। फिल्म में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर आधारित किरदार भी नजर आएगा जिन्होंने उजमा को बचाने में मदद की थी।

दीक्षित ने एक बयान में कहा, “जे. पी. सिंह से मुलाकात के बाद हम समझ पाए कि भारतीय सरकार अपने हर नागरिक की जिंदगी की कितनी परवाह करती है। उन्होंने हमें बताया कि लड़की को बचाने के मिशन में कैसे सुषमाजी पूरी तरह से शामिल रहीं और व्यक्तिगत रूप से इस मामले की निगरानी करती रहीं।”

जौहर ने आईएएनएस को बताया कि यह बहुत रोचक कहानी है। जे.पी. सिंह न केवल हमारी फिल्म के हीरो हैं बल्कि सच्चे राष्ट्र नायक भी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here