ओस्लो, नॉर्वे के समुद्र में एक क्रूज जहाज का इंजन फेल हो जाने के बाद इसमें सवार लगभग 1,300 लोगों में से 400 को हवाई मार्ग से सुरक्षित समुद्र तट ले आया गया है। चालक दल के साथ ही अन्य लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए बचाव अभियान जारी है। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, नार्वे के राहत सेवा के अधिकारी ने कहा कि विकिंग स्काई जहाज ने शनिवार को खराब मौसम के कारण इंजन फेल होने का आपदा संकेत भेजा था। जहाज आठ मीटर ऊंची लहरों में घिर गया था।

जहाज में चार इंजन में से तीन रविवार को चालू हो गए। इसके बाद इसे समुद्र तट की ओर लाने का प्रयास किया गया। अधिकारियों ने कहा, “चार में तीन इंजन अब काम कर रहे हैं और जहाज खुद से समुद्र तट तक आ जाएगा।”

दक्षिण नार्वे के संयुक्त राहत सेंटर के प्रवक्ता ने कहा कि एक जहाज भेजा गया है, जो फंसे जहाज को रास्ता दिखाएगा और उसे नजदीकी मोल्डे बंदरगाह तक लेकर आएगा। वहां लोगों को प्राथमिक उपचार के लिए राहत केंद्र स्थापित किया गया है।

उन्होंने कहा कि हेलीकाप्टर से बचाव अभियान जारी रहेगा। जहाज पर सवार 1373 लोगों में 915 यात्री हैं, जो मुख्य रूप से अमेरिका और इंग्लैंड के हैं। जहाज में 458 चालक दल के सदस्य हैं।

यह जहाज 14 मार्च को दक्षिण नार्वे के बेरगन शहर से रवाना हुआ था और 12 दिनों की यात्रा बाद इंग्लैंड के बंदरगाह तिलबरी पहुंचने वाला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.