नई दिल्ली, फिल्मकार रिया कपूर का कहना है कि बॉलीवुड में ‘मी टू’ अभियान महिलाओं को अपनी आवाज तलाशने के लिए सही दिशा में एक बड़ा कदम था और अब फिल्म जगत में बहुत से मुखर लोग हैं। रिया ने यहां आईएएनएस को बताया, “यहां (फिल्म जगत में) बहुत से मुखर लोग हैं..लोग अपनी आवाज को तलाशना सीख रहे हैं। हम यह जानने के लिए उठ खड़े हुए हैं कि जो भी हम सोचते और कहते हैं उसका मूल्य है..इसलिए मुझे लगता है कि यहां बहुत से लोग हैं जो अपनी आवाज को तलाश चुके हैं और बोलने में पर्याप्त रूप से सशक्त हैं।”

उन्होंने कहा, “‘मी टू’ अभियान महिलाओं को अपनी आवाज तलाशने के लिए सही दिशा में एक बड़ा कदम था और पुरुषों के लिए उनकी आवाज को समझना उनका समर्थन करेगा।”

32 वर्षीय निर्माता ने कहा कि मुखर होने के लिए जिम्मेदार होना भी बहुत जरूरी है।

रिया अनिल कपूर की बेटी और अभिनेत्री सोनम के. आहूजा व हर्षवर्धन कपूर की बहन हैं। उन्होंने 2010 में ‘आयशा’ के साथ बतौर फिल्म निर्माता के रूप में अपना सफर शुरू किया था और बाद में उन्होंने ‘खूबसूरत’ और ‘वीरे दी वेडिंग’ जैसी फिल्मों का निर्माण किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.