वॉर्न ने पूछा, क्या स्टोक्स का कोहली को मांकडिंग करना सही होता?

0
39

नई दिल्ली, किंग्स इलेवन पंजाब और राजस्थान रॉयल्स के बीच सोमवार को हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मुकाबले के दौरान स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन द्वारा जोस बटलर को मांकडिंग करने पर पूर्व क्रिकेटर व राजस्थान रॉयल्स के ब्रांड एंबेसडर शेन वॉर्न ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। वॉर्न ने ट्विटर पर अपनी नाराजगी जाहिर की और कहा कि अश्विन का कदम क्रिकेट की भावना के खिलाफ है।

वॉर्न ने लिखा, “एक कप्तान और व्यक्ति के रूप में अश्विन को देखकर निराश हूं। सभी कप्तान आईपीएल वॉल पर हस्ताक्षर करते हैं और यह मानते हैं कि वह खेल भावना को ध्यान में रखकर खेलेंगे। अश्विन का इरादा गेंद डालने का नहीं था, इसलिए उस गेंद को डेड बाल करार दिया जाना चाहिए था। अब बीसीसीआई को निर्णय लेना है, यह घटना आईपीएल की अच्छी छवि पेश नहीं करती।”

उन्होंने एक कप्तान के रूप में अश्विन को उनकी जिम्मेदारी का एहसास कराया।

वॉर्न ने लिखा, “एक कप्तान के रूप में आप अपनी टीम के खेलने के तरीके के मानक निर्धारित करते हैं। फिर घृणित और निम्न स्तरीय हरकत करने की क्या जरूरत है? अश्विन को इस निम्न स्तरीय हरकत (लो एक्ट) के लिए हमेशा याद किए जाएगा।”

उन्होंने ने यह भी कहा कि हर हाल में जीत हासिल करने की मानसिकता युवा खिलाड़ियों के लिए सही उदाहरण पेश नहीं कर रही है।

वॉर्न ने लिखा, “इस निम्न स्तरीय हरकत पर मेरा आखिरी विचार यह है अश्विन कि हर हाल में जीत हासिल करने की मानसिकता को रोकना चाहिए और खेल भावना को सर्वोपरि मानना चाहिए। आपको क्रिकेट खेलने वाले युवा लड़के और लड़कियों के लिए भी उदाहरण पेश करना है।”

वॉर्न ने यह भी कहा कि अगर बेन स्टोक्स ने भारतीय कप्तान विराट कोहली को इस तरीके से आउट किया होता, तो बीसीसीआई क्या करती।

वॉर्न ने लिखा, “और वह सभी लोग (पूर्व खिलाड़ियों समेत) जो कह रहे हैं कि यह खेल के नियमों के अनुरूप है, लेकिन उसने जो किया वह आपको पसंद नहीं आया और आप ऐसा नहीं करते। उनसे सवाल है कि आप ऐसा क्यों नहीं करते? सीधा सा जवाब है कि क्योंकि यह खेल की भावना के खिलाफ है।”

उन्होंने कहा, “माफ करना एक चीज और जोड़नी है। जो अश्विन ने किया अगर वह स्टोक्स, कोहली के साथ करते तो क्या वह सही होता? मैं अश्विन से नाराज हूं क्योंकि मैंने सोचा था वह उच्च कोटि के व्यक्ति हैं। किंग्स ने कई समर्थक खोए हैं। खासकर युवा लड़के एवं लड़कियां! मुझे उम्मीद है कि बीसीसीआई कोई कदम उठाएगी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.