लालू ने सुमो से पूछा-रिश्तेदार बताते हो, बताओ R.K मोदी तुम्हारा मौसा है या फूफा?

0
1179

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनके परिवार पर फर्जी कंपनियों के नाम पर कालेधन को सफेद बनाने का आरोप लगाने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के खिलाफ राजद ने भी मोर्चा खोल दिया है। लालू यादव ने सुशील मोदी के हमले का जवाब देते हुए उनसे सवाल किया है कि सुमो ये बताएं कि जिन्हें अपना रिश्तेदार बताते हो, बताओ कि R.K मोदी तुम्हारा मौसा है या फूफा? उन्होंने कहा कि रिश्तेदारी की चादर लम्बी होती है माँ-जाये सगे भाई को रिश्तेदार मत बताओ। राजद ने सुशील मोदी से पूछा कि अपना सारा काला धन अपने भाई राजकुमार मोदी की कम्पनी में घुसा दिया. बेनामी सम्पति के सरगना है मोदी परिवार। ललित छावछरिया कौन है? कोई अपनी बेनामी सम्पत्ति में पार्टनर/डायरेक्टर बनता है भला? पकड़े जाने की बौखलाहट में अपना सुध बुध खो कैसा बेतुका बचाव कर रहे हैं सुशील मोदी।

 राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने सुमो पर बोला हमला

राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने रविवार को सुशील कुमार मोदी और उनके भाई राजकुमार मोदी पर फर्जी कंपनियों का मकडज़ाल बुनकर मनी लॉंड्रिंग करने तथा आशियाना होम्स प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी के माध्यम से हजारों करोड़ रुपये की मनी लॉंड्रिंग का आरोप लगाया है। मनोज झा ने रविवार को राजद के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सुशील मोदी और उनके परिवार से यह सवाल किया कि आखिर क्या बात है जब मोदी जी सत्ता में आते हैं तब उनके परिवार की कंपनियां मुनाफा कमाने लगती हैं और सत्ता से उतरते अपनी काली कमाई को सफेद बनाने में जुट जाती हैं। इस संवाददाता सम्मेलन में राजद के वरिष्ठ नेता जगदानंद और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामचंद्र पूर्वे भी मौजूद थे। मनोज झा ने संवाददाता सम्मेलन में एक वीडियो दिखाकर सुशील मोदी से पूछा है कि मनी लॉंड्रिंग के बेताज बाहदशाह ललित कुमार छावछरिया से उनके क्या संबंध हैं? झा ने सुशील मोदी पर एक के बाद एक कर रविवार को आरोपों की बारिश कर दी। उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले 15-20 वर्षों में, विशेषकर सुशील मोदी के उप मुख्यमंत्री बनने के बाद उनका परिवार हजारों करोड़ रुपये की काली संपत्ति का मालिक बन गया है। एक जमाना था जब सुशील मोदी के स्वर्गीय पिता मोतीलाल मोदी पटना में रेडीमेड कपड़ों की दुकान चलाकर अपने परिवार का जीवन-बसर करते थे। मनोज झा ने कहा कि ललित कुमार छावछरिया दो सौ से भी अधिक फर्जी कंपनी (शेल कंपनी) खोलकर कालेधन को सफेद बनाने का खेल खेलता है। इन फर्जी कंपनियों से मोदी के भाई की कंपनी को बिना ब्याज के कर्ज दिए जाते हैं। मनोज झा ने यह भी कहा कि यह तो सुशील मोदी के काले कारनामों की पोल खोलने की महज शुरुआत है। आने वाले दिनों में वे इस तरह के और भी कई खुलासे करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.