उत्तरकाशी: तीर्थयात्रियों की बस खाई में गिरी, 21 की मौत; छह घायल

0
1115

इंदौर (मध्य प्रदेश) से चारधाम यात्रा पर आए तीर्थयात्रियों की बस यूके-12 0037 नालूपानी के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। उसमें सवार चालक परिचालक समेत 30 लोगों में से 21 की मौत हो गई, जबकि छह गंभीर रूप से घायल हो गए। तीन अन्य का अभी कुछ पता नहीं चल पा रहा है। यात्रियों का यह दल यमुनोत्री और गंगोत्री के दर्शन कर केदारनाथ के लिए जा रहा था। बस के तीन सौ मीटर गहरी खाई में गिरने से परखच्चे उड़ गए। जिला प्रशासन, एसडीआरएफ, जल पुलिस स्थानीय पुलिस रेस्क्यू में जुटी है। खाई गहरी होने की वजह से इसमें दिक्कतें आ रही हैं। हादसे की वजह बाइक सवार को साइड देना बताया जा रहा है, हालांकि आधिकारिक तौर पर कोई कुछ बोल रहा है। इंदौर के 57 श्रद्धालुओं के दल ने ऋषिकेश से दो मिनी बसें चारधाम यात्रा के लिए बुक कराई थीं। दुर्घटनाग्रस्त बस इन्हीं में से एक थी। हादसा मंगलवार शाम करीब छह बजे उत्तरकाशी मुख्यालय से 32 किलोमीटर दूर ऋषिकेश की तरफ मुख्य हाईवे पर नालूपानी के पास हुआ। यात्रा सीजन के चलते इस मार्ग पर पूरे दिन वाहनों की आवाजाही है। तीर्थयात्रियों की बस के पीछे चल रहे स्थानीय एक भाजपा ने डीएम को बस के दुर्घटनाग्रस्त होकर खाई में गिरने की सूचना दी। करीब आधा घंटे के अंतराल में जिलाधिकारी डा. आशीष श्रीवास्तव और पुलिस अधीक्षक ददन पाल टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। खाई में उतरकर रेस्क्यू करने में दिक्कतें पेश आने पर प्रशासन ने धरासू बैंड के रास्ते भागीरथी नदी के तट पर टीमें भेजीं। वहां से जल पुलिस के जवान नदी पार कर घायलों की मदद के लिए दूसरी तरफ पहुंचे। जिलाधिकारी के अनुसार घायलों को रेस्क्यू कर जिला अस्पताल उत्तरकाशी लाया गया है। हादसे में घायल युवती भावना ने बताया कि बस में चालक और हेल्पर समेत 30 लोग सवार थे। डीएम उत्तरकाशी के अनुसार बस का एक हिस्सा भागीरथी में समाया हुआ है, ऐसे में कुछ यात्रियों के नदी के प्रवाह में बहने की भी आशंका जताई जा रही है। तड़के तीन बजे तक चले रेस्क्यू में खाई से 18 शव निकाल लिए गए थे।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हादसे पर किया गहरा शोक व्यक्त
उत्तरकाशी के नालूपानी में हुए बस हादसे की मजिस्ट्रीयल जांच होगी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हादसे पर गहरा शोक व्यक्त किया। उन्होंने हादसे में मरने वालों के परिजनों को एक-एक लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्य सचिव एस रामास्वामी को निर्देश दिए कि हादसे के बाद बचाव व राहत कार्य युद्धस्तर पर किया जाए। इसके साथ ही उन्होंने परिवहन आयुक्त और पुलिस को निर्देश दिए कि यात्रा मार्गों पर वाहनों की गंभीरता से जांच की जाए। उन्होंने बीआरओ और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए कि संवेदनशील, भूस्खलन संवेदी स्थानों पर सावधानियां बरते जाने और क्रैश बैरियर बनाए जाएं। उन्होंने कहा कि यात्रा मार्गों पर यात्रियों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएं।
हेल्पलाईन न0- 9411112976
एसपी उत्तरकाशी- 9411112737
रेंज कार्यालय देहरादून- 0135-2716201

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.