इंटर टॉपर मामला: शिक्षा मंत्री ने बोर्ड अध्यक्ष को भेजा नोटिस, कुर्सी जानी तय

0
801

बिहार इंटरमीडिएट के आर्ट्स टॉपर गणेश कुमार की गिरफ्तारी के बाद शिक्षामंत्री अशोक चौधरी ने तेवर सख्त करते बिहार बोर्ड और बोर्ड के अध्यक्ष पर अपनी भड़ास निकाली। उन्होंने कहा कि बोर्ड और बोर्ड के अध्यक्ष भी जांच के घेरे में आ गए हैं। इस मामले में सभी पहलुओं पर कड़ाई से जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिस स्तर पर रिजल्ट में गड़बड़ी हुई है और गलतियां सामने आ रही हैं, उसे बख्शा नहीं जाएगा। वहीं बिहार बोर्ड के अध्यक्ष अानंद किशोर ने कहा कि गणेश की मेरिट पर सवाल नहीं उठा है, बल्कि उसने अपनी उम्र छुपाने का गुनाह किया है इसीलिए उसकी गिरफ्तारी हुई है।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस मामले में आनंद किशोर को भी मंत्री ने नोटिस भेजा है और जवाब मांगा है। जानकारी के मुताबिक मंत्री ने नोटिस के माध्यम से बोर्ड से स्पष्टीकरण मांगा है कि इस गड़बड़ी के लिये जिम्मेवार कौन है? अशोक चौधरी ने पहले ही कार्रवाई के संकेत दिये थे जिसके बाद शनिवार को उन्हें नोटिस भेजा गया। पिछले दो सालों में ये दूसरा मौका है जब बिहार में इंटर के टॉपर्स फर्जी निकले हैं। बोर्ड के अलावा बिहार पुलिस भी मामले की पड़ताल कर रही है। मालूम हो कि इंटर आर्ट्स के टॉपर गणेश राम ने 1994 में ही इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की थी और दोबारा साल 2016 में उम्र कम करने के लिये परीक्षा दी। पिछले वर्ष टॉपर घोटाला होने के बाद सरकार की ओर बोर्ड को साफ निर्देश दिया गया था कि टॉपरों की सूची जारी करने से पहले इस सूची में शामिल सभी विद्याथिर्यों का सशरीर सत्यापन कराया जाए।
बता दें कि इंटर रिजल्ट घोषित होने के तीन दिनों बाद आर्ट्स टॉपर गणेश कुमार का फर्जीवाड़ा सामने आ गया है। गणेश ने बिहार बोर्ड को धोखे में रखकर अपनी उम्र छुपाई। बोर्ड की अब तक की जांच में पता चला है कि उसने 27 साल के अंदर दो बार मैट्रिक और इंटर की परीक्षा दी है। पूरे मामले का खुलासा बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया। बोर्ड ने गणेश को शुक्रवार को अपने ऑफिस बुलाया था। फर्जीवाड़े की पुष्टि होने के तत्काल बाद कोतवाली पुलिस को बुलाया गया और वहीं से गणेश गिरफ्तार कर लिया गया। उस पर कोतवाली थाने में प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है।
सभी स्टेट टॉपरों की कॉपियां वेबसाइट पर होंगी जारी
इंटर आर्ट्स के टॉपर गणेश कुमार की योग्यता पर सवाल उठने के बाद अब बिहार विद्यालय परीक्षा समिति तमाम टॉपरों की उत्तर पुस्तिकाओं को सार्वजनिक करने जा रही है। साइंस, आर्ट्स और कॉमर्स के स्टेट टॉपर की उत्तर पुस्तिकाओं की स्कैन कॉपी को समिति की वेबसाइट पर डाला जायेगा, जिन्हें कोई भी देख और पढ़ सकेगा। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पहला बोर्ड होगा, जो टॉपरों की उत्तर पुस्तिकाओं काे सार्वजनिक करेगी. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा कि इंटर के टॉपरों की उत्तर पुस्तिकाओं को समिति की वेबसाइट पर डाला जायेगा. इससे 2018 में इंटर की परीक्षा में शामिल होनेवाले परीक्षार्थियों को पता चलेगा कि प्रश्नों का उत्तर कैसे लिखना चाहिए. मैट्रिक के टॉपरों की भी उत्तर पुस्तिकाओं की सॉफ्ट काॅपी वेबसाइट पर डाली जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.