चैम्पियंस ट्रॉफ़ी: हार के बाद बोले कोहली, हमें लगा था कि हमने काफी रन बनाये हैं; मैथ्यूज़ ने बताया ‘सर्वश्रेष्ठ’ जीत

0
803

लंदन: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार (8 जून) को कहा कि उन्हें लगा था कि उनके गेंदबाज 321 रन का स्कोर मिलने पर जीत दिला देंगे लेकिन श्रीलंका ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए उनसे मैच छीन लिया. कोहली ने मैच के बाद कहा,‘हमें लगा था कि हमने काफी रन बनाये हैं. हमें अपने गेंदबाजों पर भरोसा था लेकिन श्रीलंका ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया.’ उन्होंने कहा,‘उन्होंने पूरी पारी में लय बनाये रखी और अपनी रणनीति पर बखूबी अमल किया. मुझे लगा कि हमारी गेंदबाजी में खराबी नहीं थी, लेकिन हम रणनीति पर अमल नहीं कर सके. वैसे भी जीत का श्रेय श्रीलंका को दिया जाना चाहिये.’युवराज को गेंदबाजी नहीं देने से जुड़े एक सवाल के जवाब में कोहली ने कहा कि उन्हें (युवराज को) को पार्ट टाइम गेंदबाज के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता था, लेकिन उस वक्त स्थिति ऐसी नहीं थी. कोहली ने कहा, ‘रवींद्र जडेजा भी रन को रोक पाने में नाकाम हो रहे थे, ऐसे में युवराज को गेंदबाजी सौंपने का ख्याल नहीं आया.’

श्रीलंकाई कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने कहा,‘यह सर्वश्रेष्ठ जीत में से एक है. भारत को हराने से बेहतर क्या होगा.’ उन्होंने कहा,‘हमारे गेंदबाजों ने उम्दा प्रदर्शन किया चूंकि 321 रन का लक्ष्य हासिल किया जा सकता था. हमने लगातार अच्छी साझेदारियां की जिससे दबाव नहीं बन सका.’बल्लेबाजों के दम पर श्रीलंका ने भारत को सात विकेट से हराया

अपने गेंदबाजों के लचर प्रदर्शन के कारण गत चैम्पियन भारत को गुरुवार (8 जून) को यहां आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी ग्रुप बी में श्रीलंका के खिलाफ सात विकेट से अप्रत्याशित पराजय का सामना करना पड़ा.

भारत ने शिखर धवन के 125 रन और रोहित शर्मा तथा महेंद्र सिंह धोनी के अर्धशतकों के दम पर छह विकेट पर 321 रन बनाये. जवाब में श्रीलंकाई टीम ने 48.4 ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया और शीषर्क्रम में लगभग सभी बल्लेबाजों ने जीत में योगदान दिया. वनडे क्रिकेट में श्रीलंका के लिये यह सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा करके मिली जीत है.

धनुष्का गुणतिलका ने 72 गेंद में 76 जबकि कुशल मेंडिस ने 93 गेंद में 89 रन बनाये. दोनों ने 159 रन की साझेदारी करके टीम को अच्छी शुरुआत दी. इसके बाद कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने 44 गेंद में नाबाद 52, असेला गुणरत्ने ने 21 गेंद में नाबाद 34 और कुशल परेरा ने 47 (रिटायर्ड हर्ट) रन बनाये.

टूर्नामेंट में अब तक के इस सबसे बड़े उलटफेर के बाद चारों टीमों के लिये मैदान खुला हो गया है. भारत, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका में से कोई भी क्वालीफाई कर सकता है. भारत को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिये दक्षिण अफ्रीका को हर हालत में हराना होगा.

भारत की ओर से कोई भी गेंदबाज श्रीलंकाई बल्लेबाजों पर अपना असर नहीं दिखा सका. भारत के हार्दिक पांड्या ने सात ओवर में 51 रन और रविंद्र जडेजा ने छह ओवर में 52 रन दे डाले. आत्ममुग्धता के शिकार भारतीय गेंदबाजों में अनुशासन की कमी नजर आई और इसका श्रीलंकाई बल्लेबाजों ने पूरा फायदा उठाया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.