दो अक्तूबर से बाल विवाह और दहेज के खिलाफ अभियान, सभी करें सहयोग

0
1021

बिहारशरीफ : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि पूर्ण शराबबंदी के बाद अब दो अक्तूबर से बाल विवाह व दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान शुरू होगा. इसमें सभी आशा, आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाएं, शिक्षक, राजनीतिक दल और स्वयंसेवी संस्थाएं सहयोग करें. मुख्यमंत्री शुक्रवार को हरनौत प्रखंड के मोबारकपुर गांव में युवा एवं किसान जदयू के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

सम्मेलन में नीतीश कुमार ने पंचायतों को और सशक्त बनाने का उल्लेख करते हुए कहा कि वार्डों का विकास वार्ड सभा के माध्यम से होना जरूरी है. जब हमने वार्ड समिति बनायी, तो मुखियाजी नाराज होकर कोर्ट चले गये. कोर्ट ने कहा कि वार्ड सभा का पंचायत राज अधिनियम में उल्लेख नहीं है. इसके बाद हमने इस अधिनियम में संशोधन लाया. मुखियाजी को लगता है कि उनका पावर छीना जा रहा है. हम मुखियाजी से कहना चाहते हैं कि आपको पावर किसने दिया. पंचायत में केवल मुखियाजी का चुनाव नहीं होता है. वार्ड सदस्य और पंच-सरपंच भी चुने जाते हैं.

पंचायतों में सबसे बड़ी शक्ति ग्राम सभा को दी गयी है. इस बात को ध्यान रखना जरूरी है. हमने वार्ड वाइज सभा बना कर उन्हें विकास की जिम्मेवारी सौंपी है. वार्ड सभा के निर्णय पर अंतिम फैसला ग्राम सभा करेगी. सात निश्चय की योजनाओं का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि योजनाओं को इस तरह से क्रियान्वित किया जा रहा है कि इसमें कमीशनखोरी की बात कोई न सोचे. इस बात को मुखियाजी भी समझ लें. हमने अकारण न किसी को नुकसान पहुंचाया है और न ही किसी को फायदा पहुंचाने का प्रयास किया है. विकास के मायने यह है कि हर व्यक्ति को न्याय मिले, विकास हो, कोई उपेक्षित न रहे.

सीएम ने कहा कि बिहारियों के बल पर हमारा बिहार आगे बढ़ रहा है. हमारे युवा व किसान मेहनती हैं. अपने परिश्रम के बल पर देश-दुनिया में नाम कमा रहे हैं. सीएम ने कहा कि इसी महीने किसानों की समस्याओं पर विचार के लिए बैठक की जायेगी. उन्होंने पचौरा में हाइस्कूल व स्वास्थ्य केंद्र खोलने की घोषणा की.

इस अवसर मंत्री ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, जिला प्रभारी मंत्री शैलेंद्र कुमार सिंह, सांसद कौशलेंद्र कुमार, विधायक डाॅ जितेंद्र कुमार व चंद्रसेन प्रसाद, विधान पार्षद रीना यादव, हीरा प्रसाद बिंद, डाॅ विपिन कुमार यादव, अशगर शमीम, जदयू दलित प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष मनोज कुमार तांती, अनिल महाराज, सुनील कुमार, संजय कांत सिन्हा, बनारस प्रसाद, सियाशरण ठाकुर, वसुंधरा देवी, अनीता सिंह, अरुण कुमार वर्मा मौजूद थे. सम्मेलन का आयोजन त्रिवेणी कुमार और अध्यक्षता अरुण देव व संचालन अजय कुमार पटेल ने की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.