ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भारत 60वें और चीन 22वें पायदान पर

0
703

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स (GII) 2017 में भारत छह स्थान चढ़कर 130 देशों के बीच 60वें पायदान पर पहुंच गया है। इस तरह भारत मध्य और दक्षिणी एशिया में टॉप रैंकिंग वाला वाला देश बन गया है। हालांकि भारत चीन से पीछे रहा, जो 22वें पायदान पर है। ज्यादा इनोवेशन वाले देशों की कतार में स्विट्जरलैंड, स्वीडन, नीदरलैंड्स, अमेरिका और ब्रिटेन ने अपनी टॉप पोजिशंस बनाए रखीं।यह इंडेक्स कॉर्नेल यूनिवसिटी, INSEAD और वर्ल्ड इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी ऑर्गनाइजेशन ने मिलकर तैयार किया है। इसके ताजा नतीजों से एशिया में इमर्जिंग इनोवेशन सेंटर के रूप में भारत के उभार का पता चल रहा है।

कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री ने एक बयान में कहा, ‘2015 में इंडिया 81वें स्थान पर था। पिछले साल 66वें स्थान पर था। अब भारत ने अपनी पोजिशन बेहतर कर ली है। पांच साल तक रैंकिंग में लगातार गिरावट के बाद भारत की रैंक में यह सुधार आया है।’

बयान में कहा गया कि इनोवेशन और क्रिएटिविटी में ऊंचाई पर पहुंचने की भारत की क्षमता को देखते हुए कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज मिनिस्टर निर्मला सीतारमण के निर्देश पर इनोवेशन के मामले में एक टास्क फोर्स बनाई गई थी।

GII से जुड़ी रिपोर्ट में कहा गया कि भारत के इस उभार से इसके पड़ोसी देशों को भी फायदा हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया, ‘पूर्वी एशिया में इनोवेशन के मामले में नए दमदार प्लेयर्स के उभार का फायदा लेने का अवसर आ गया है। इन्हें भारत की बेहतर होती पोजिशन से फायदा हो रहा है।’

भारत के पड़ोसियों में श्रीलंका 90वें पोजिशन पर है तो नेपाल 109वीं पोजिशन पर। पाकिस्तान 113वें और बांग्लादेश 114वें पायदान पर है।

GII में पिछले कुछ वर्षों से दिख रहा है कि भारत ने इनोवेशन के मोर्चे पर लगातार सुधार किया है। रिपोर्ट में कहा गया कि हाल में भारत ने इनोवेशन इनपुट और आउटपुट परफॉर्मेंस के मामले में बड़ी छलांग लगाई है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में इनवेस्टमेंट, शिक्षा, प्रकाशन और विश्वविद्यालयों की गुणवत्ता, आईसीटी सर्विसेज एक्सपोर्ट्स और इनोवेशन क्लस्टर्स के मामले में लगातार सुधार हो रहा है।

इसमें कहा गया है कि भारत के इसी राह पर चलते रहने की उम्मीद है। इनोवेशन में निवेश बढ़ने से रिसर्च एंड डिवेलपमेंट पर फोकस करने वाली ज्यादा कंपनियां सामने आ रही हैं, जो पेटेंटिंग, हाई-टेक्नोलॉजी प्रॉडक्शन और एक्सपोर्ट्स में सक्रिय हैं।

मिनिस्ट्री के बयान में कहा गया, ‘इनोवेशन पर बनाई गई टास्क फोर्स को इनोवेटिव देश के रूप में भारत की स्थिति का आकलन करने, देश में इनोवेशन इकोसिस्टम को मजबूत करने के उपायों का सुझाव देने और इस तरह GII में इंडिया की रैंकिंग बेहतर करने का जिम्मा दिया गया था।’

2017 में लगातार सातवें वर्ष स्विट्जरलैंड सबसे आगे रहा, वहीं चीन को छोड़कर ज्यादा इनकम वाले 24 देशों का टॉप 25 की लिस्ट में दबदबा रहा। 2016 में चीन पहली मिडल इनकम इकनॉमी के रूप में टॉप 25 में पहुंचा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.