ट्रेन में पीटकर हत्या: काली पट्टी बांधकर ईद मनाएंगे मुस्लिम

0
688

बल्लभगढ़ के नजदीक खंदावली गांव के लोगों का कहना है कि ट्रेन में जुनैद की पीट-पीटकर की गई हत्या ने ईद की खुशियों को फीका कर दिया है। गांव के लोग भीड़ द्वारा जुनैद की हत्या के विरोध में सोमवार को ईद की नमाज काली पट्टी बांधकर अदा करने का फैसला किया है लेकिन घरों में सेवइयां आदि नहीं बनाई जाएंगी। इसी तरह यूपी की राजधानी लखनऊ में भी लोगों ने काली पट्टी बांधकर ईद मनाने का फैसला किया है। गांव के शकील अहमद ने बताया कि गुरुवार को जब इस घटना की जानकारी मिली तो पूरे गांव में सन्नाटा छा गया। उधर गांव के सरपंच निसार अहमद का कहना है कि प्रशासन और सरकार परिवार के साथ खड़ा है और परिवार को हर संभव मदद दी जा रही है। ऐसे में उन्होंने अपील की है कि काली पट्टी बांधकर नमाज अदा करने का कोई औचित्य नहीं है। वहीं, जुनैद के चचेरे भाई सनोवर खान ने बताया कि उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए अपने संदेश में शांतिपूर्ण विरोध के अपने फैसले को बताया है। उन्होंने कहा, ‘घटना के बाद बहुत सारे लोगों ने यहां का दौरा किया। हम गांव में शांति चाहते हैं। यहां कोई भी ईद मनाने की मनःस्थिति में नहीं है।’ खान ने आगे कहा कि इलाके में पिछले 800 से भी ज्यादा सालों से विभिन्न समुदायों के लोग शांतिपूर्वक रहते आए हैं। उन्होंने कहा, ‘यहां हिंसा की एक भी वारदात नहीं हुई है। इस साल चीजें थोड़ी बदली हुई हैं और हम जुनैद की बर्बर हत्या के खिलाफ शांतिपूर्वक प्रदर्शन करेंगे।’ परिवार को उम्मीद है कि भीड़ की पिटाई से घायल जुनैद के बड़े भाई शाकिर को ईद के दिन यानी सोमवार को AIIMS से डिसचार्ज कर दिया जाएगा। जुनैद के पिता जलालुद्दीन ने कहा, ‘घटना के बाद से मेरी पत्नी बीमार पड़ गई है। शाकिर की मौजूदगी उन्हें ढांढस देने में मददगार होगी।’ दूसरी तरफ पुलिस को इस मामले में अभी तक कोई खास सुराग नहीं मिले हैं। रविवार को हरियाणा पुलिस ने संदिग्धों के बारे में जानकारी देने पर एक लाख रुपये इनाम देने का ऐलान किया। एक अधिकारी ने बताया कि घटना को कोई भी चश्मदीद अपना बयान दर्ज कराने के लिए सामने नहीं आया है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को एक आरोपी से पूछताछ के बाद असाओटी के आस-पास के गांवों और पलवल में छापे मारे जा रहे हैं। जीआरपी अंबाला कैंट के एसपी कमलदीप गोयल ने बताया, ‘हमने कुछ लोगों की पहचान की है और हमले में इस्तेमाल किए गए कुछ हथियारों को बरामद किया है। लेकिन हम इसके डीटेल का खुलासा तभी करेंगे जब कुछ और गिरफ्तारियां हो जाएं। आरोपी के मुताबिक 5 से 6 और लोग भी थे जिन्होंने युवकों पर हमले में उसकी मदद की थी।’ बता दें कि गुरुवार को दिल्ली से मथुरा जा रही ट्रेन में भीड़ ने जुनैद और उसके भाई शाकिर की बुरी तरह पिटाई की थी। हमले में जुनैद की मौत हो गई जबकि शाकिर गंभीर रूप से घायल हैं।
लखनऊ में काली पट्टी बांधकर ईद : जुनैद की हत्या के खिलाफ लखनऊ में लोगों ने अपनी बांहों पर काली पट्टी बांधकर ईद मनाने का फैसला किया है। इस बर्बर हत्याकांड से मुस्लिम ही नहीं, सभी धर्म के लोगों में रोष है। रविवार को लोगों ने सोशल मीडिया पर ‘काली पट्टी के साथ ईद’ हैशटैग के साथ पोस्ट कर लोगो से काली पट्टी बांधकर ईद की नमाज अदा करने की अपील की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.