महागठबंधन में खींचतान जारी, राजद पर जदयू हमलावर

0
1131

पटना। राष्ट्रपति चुनाव को लेकर महागठबंधन के बीच मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। राजद के आक्रामक तेवर पर जदयू प्रवक्ताओं ने आज एक सुर में राजद पर हमला बोला है। दो दिन पहले राजद विधायक भाई विरेन्द्र और रघुवंश बाबू के सीएम पर हमला पर जदयू प्रवक्ताओं ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। हालांकि जदयू प्रवक्ताओं ने उपमुख्यमंत्री तेजस्वी के बयान पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। जदयू के प्रमुख प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा है कि राजद के भाई विरेन्द्र और रघुवंश प्रसाद सिंह अक्सर सीएम पर अमर्यादित टिप्पणी कर अपमानित करने का काम करते हैं। राजद इन पर कारवाई करें। साथ हीं कारवाई का समय सीमा तय करें। इसके अलावा जदयू को कुछ मान्य नहीं होगा। नीतीश हमारे नेता हैं और उनका अपमान कतई सहन नहीं किया जाएगा। जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने सीधे-सीधे राष्ट्रीय जनता दल को चेतावनी वाले लहजे में बयान देते हुए कहा है कि निश्चित रूप से राजनीतिक प्राण रक्षा के लिए राजद को जड़ी-बूटी उपलब्ध कराया, जनता के जनादेश का जनता दल यू ने। सच का एहसास करना श्रेयस्कर होगा, वरना यह आत्मघाती होगा। जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा है कि राजद कुछ छुट भैया लगातार सीएम पर टिप्पणी करते रहते हैं। आखिर कब तक बर्दाश्त किया जाएगा। आग राजद की ओर से लगाई गई है। आग बुझाने की पहल भी उधर से ही करना होगा। सीमा तोड़ियेगा तो कब तक चुप बैठंेगे। जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन सिंह ने कहा है कि महागठबंधन के प्रमुख घटक दल राजद के कुछ नेता सीएम को अपमानित करने का काम करते हैं। नीतीश के करिश्माई छवि से ही 2015 में महागठबंधन को बहुमत मिला है। आखिर जदयू कब तक बर्दाश्त करेगी। बड़बोले नेताओं पर कारवाई होनी चाहिए। जदयू प्रवक्ताओं के बयान पर राजद प्रवक्ता अशोक सिन्हा ने कहा है कि महागठबंधन को जो मैंडेड मिला है, हमें उसका ख्याल रखना चाहिए। जो दल गठबंध्न तोड़ेगा जनता उसे कभी माफ नहीं करेगी। राजद चाहता है महागठबंधन मजबूती से चले। कांग्रेस प्रवक्ता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा है कि महागठबंधन के तीनों दलों को भाजपा के खिलाफ बहुमत मिला है। सभी दलों को महागठबंधन धर्म का पालन करना चाहिए। बिहार की जनता ने उम्मीदों से भाजपा के वोट दिया था। बयानबाजी से जनता को दुख होगा।
इधर, जदयू के महासचिव के सी त्यागी ने पहली बार अक्रामकता दिखाते हुए कहा है कि जदयू महागठबंधन की मां है, उसकी दाई नहीं है। दाई से ज्यादा मां का फर्ज होता है इसलिए हमलोग कुछ दिन और बर्दाश्त करंेगे। महागठबंधन को पांच साल के लिए बहुमत मिला था अभी बहुत समय बाकी है। जो बीच में गठबंधन तोड़ेगा जनता उसे सबक सिखाएगी। इस पर पलटवार करते हुए राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने कहा है कि इस प्रदेश की आवाम महागठबंधन की मां है। इधर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि बिहार की दलित बेटी को हराने का काम नीतीश कर रहे हैं, हम नहीं। हम तो जीतने के लिए उम्मीदवार बनाएं हैं। कांग्रेस एक सिद्धांत पर चलती है। जो सिद्धांत पर नहीं चलते उनका फैसला बदलता रहता हैं। एनसीपी नेता तारिक अनवर ने कहा है कि राष्ट्रपति उम्मीदवार पर नीतीश कुमार ने फैसले लेने मंे जल्दबाजी की है। विपक्ष के फैसले तक उन्हें इंतजार करना चाहिए था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.