सीमा पर बढ़ा तनाव: भारत के 1000 सैनिक चीनी फौज से ले रहे मोर्चा

0
949

बीजिंग (पीटीआई)। चीन ने उलटे भारत पर ही सीमा के उल्लंघन का आरोप लगाया है। उसने धमकी दी है कि भारत ने अपने सैनिक नहीं हटाए तो भारतीय श्रद्धालुओं को कैलास मानसरोवर की यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। चीनी सेना ने सिक्किम में भारतीय सीमा में घुसकर बंकर तोड़ दिए थे। लेकिन चीन ने मंगलवार को भारतीय सेना पर सीमा पार कर अपने क्षेत्र में प्रवेश को लेकर भारत के साथ विरोध दर्ज कराया। इस बीच भारत ने चीन सीमा पर उत्पन्न तनाव की स्थिति की समीक्षा की।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने कहा कि अपनी क्षेत्रीय अखंडता को लेकर हमारा रुख दृढ़ है। उम्मीद है कि भारत इस दिशा में चीन के साथ काम करेगा और चीन सीमा में आए अपने सैनिकों को तुरंत वापस बुलाएगा। उन्होंने कहा कि हाल में जब भारतीय सेना ने चीन सीमा में घुस कर निर्माण कार्य में बाधा पहुंचाई तब हमने जरूरी कार्रवाई की। सुरक्षा कारणों के चलते हमने भारतीय तीर्थयात्रियों की कैलास यात्रा रोक दी। अब यह यात्रा भारत की तरफ से उठाए गए कदम पर निर्भर करेगी। चीन में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलने पर भारतीय तीर्थयात्री गंगटोक लौट आए थे।

नई दिल्ली में मंगलवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में सिक्किम में भारत-चीन सीमा पर उत्पन्न तनाव की समीक्षा की गई। इसमें सेना, आइटीबीपी और गृह मंत्रालय के अधिकारी शामिल हुए। सूत्रों के मुताबिक, सिक्किम सरकार ने चीनी सेना की घुसपैठ की रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेजी है। डोका ला इलाके के लालटेन चौकी के नजदीक चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) द्वारा भारतीय सीमा में बंकर तोड़ने की घटना जून के शुरुआत में हुई थी। एक अधिकारी के मुताबिक, सिक्किम सीमा की स्थिति पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। सिक्किम की घटना चीन द्वारा सीमा पर एक और मोर्चा खोलने का प्रयास है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.