2199 करोड़ रुपए में वीवो को मिली आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप, पिछली बार की तुलना में 554% ज्यादा

0
555

चाइनीज़ मोबाइल कंपनी वीवो पिछली बार की तुलना में 500 गुना अधिक की बोली लगाकर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) ट्वंटी 20 टूर्नामेंट के लिये वर्ष 2018 से 2022 तक अगले पांच वर्षों के लिये टाइटल प्रायोजक बनी रहेगी। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मंगलवार को इसकी घोषणा की। बोर्ड ने बताया कि वीवो मोबाइल कंपनी अगले पांच वर्षों तक आईपीएल ट्वंटी 20 क्रिकेट टूनार्मेंट के लिये प्रायोजक बनी रहेगी।

स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी ने इस प्रायोजन अधिकार को हासिल करने के लिये 2199 करोड़ रूपये की बोली लगाई जो पिछली बार की तुलना में 554 फीसदी अधिक है। इससे पहले उसने दो वर्ष आईपीएल के 2016-17 सत्रों के लिये यह प्रायोजन हासिल किया था। आईपीएल के 2018 से 2022 संस्करण यानि अगले पांच वर्षों तक वीवो टूनार्मेंट का टाइटल स्पोंसर रहेगा। कंपनी आईपीएल में खेल स्पधार्ओं, मार्केटिंग आदि से जुड़ी रहेगी।

आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने इसे लेकर कहा कि हम वीवो के साथ एक बार फिर जुड़कर खुश हैं जो अगले पांच वर्षों तक हमारा टाइटल स्पॉंसर होगा। वीवो के साथ हमारा पिछले दो सत्रों में साथ रहा है और हमें यकीन है कि आगे यह साथ और बढ़ा और बेहतर होगा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना ने कहा’ वीवो ने बाज़ार में एक बड़े ब्रांड के रूप में पहचान बनाई है। हम वीवो को अपना टाइटल स्पोंसर बनाकर खुश हैं।

वहीं कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने भी इस एसोसिएशन पर खुशी जताते हुये कहा’ हमें टाइटल स्पोंसरशिप पाने वाले उम्मीदवारों में कमाल की होड़ देखने को मिली और वीवो को दोबारा आईपीएल से जोड़ने पर हम खुश हैं। इस ब्रांड के साथ अब हमारा रिश्ता अगले पांच वर्षों के लिये होगा। टाइटल प्रायोजक बनने वाले उम्मीदवारों की होड़ में अन्य मोबाइल बनाने वाली कंपनी ओप्पो भी शामिल थी। बीसीसीआई ने टाइटल स्पोंसर के लिये इस वर्ष टेंडर निकाले थे जो 21 जून से शुरू थे और इसकी आखिरी तारीख 27 जून तक थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.