राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का पहला भाषण : सैनिक, किसान, छात्र हैं राष्ट्र निर्माता

0
659

रामनाथ कोविंद ने देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में मंगलवार को शपथ ग्रहण किया. उनके शपथ ग्रहण में पीएम मोदी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार समेत राजनीति जगत के कई दिग्गज शामिल हुईं. राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शपथ ग्रहण करने के बाद भाषण देते हुए कहा कि मिट्टी के घर से शुरू कर वह पूरी विनम्रता के साथ इस पद को ग्रहण कर रहे हैं. आइए जानते हैं उनके भाषण की 5 खास बातें :
1. सैनिक, किसान, वैज्ञानिक, डॉक्‍टर, नर्स, छात्र राष्‍ट्र निर्माता हैं. घर और बाहर की देखभाल करने वाली महिलाएं राष्‍ट्र निर्माता हैं.
2. बाबा साहेब अंबेडकर को याद करते हुए कहा कि डॉ अंबेडकर ने कहा था कि केवल स्‍वतंत्रता ही काफी नहीं बल्कि सामाजिक, आर्थिक स्‍वतंत्रता भी जरूरी है.
3. विविधिता ही देश की सफलता का मंत्र है. हम बहुत अलग हैं लेकिन एकजुट हैं. भारत का वसुधैव कुटुंबकम का दर्शन रहा है. 21 सदी भारत की सदी होगी
4. राष्‍ट्र निर्माण का काम अकेले सरकारें नहीं कर सकती. प्राचीन ज्ञान और समकालीन विज्ञान को एक साथ लेकर चलना है
5. हमें एक ऐसे समाज का निर्माण करना है जिसकी कल्‍पना महात्‍मा गांधी ने की थी. पूरी दुनिया भारत की परंपरा और आधुनिकता के प्रति आकर्षित है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.