नीतीश को विश्वासमत हासिल, पक्ष में 131 और विपक्ष में 108 मत पड़े

0
942

पटना : बिहार की नयी जदयू-एनडीए सरकार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज विधानसभा में अपना बहुमत हासिल कर लिया. विश्वासमत वोटिंग या ध्वनिमत से नहीं बल्कि लाॅबी डिवीजन से हासिल किया गया. 243 सदस्यों वाली बिहार विधानसभा में नीतीश कुमार की पार्टी के पास 71 विधायक हैं, जबकि सहयोगी भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए के पास 61 विधायक हैं. इसमें भाजपा के अपने 58 विधायक हैं. नीतीश कुमार ने यह विश्वासमत ऐसे कठिन समय में हासिल किया है, जब कहा जा रहा था कि उनकी पार्टी में मतभेद हैं और पार्टी के दूसरे बड़े नेता शरद यादव खुश नहीं हैं. नीतीश कुमार ने आज सीधे तौर पर कांग्रेस पर हमला बोला. नीतीश कुमार ने कहा कि भ्रष्टाचार के मुद्दे पर उन्होंने कांग्रेस नेताओं से हस्तक्षेप करने को कहा, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया. बहुमत के लिए 122 विधायकों का समर्थन चाहिए था, जिसमें नीतीश कुमार को 131 वोट हासिल हुए. विपक्ष को 108 वोट हासिल हुए. लालू प्रसाद यादव की पार्टी राजद ने मांग की थी कि गुप्त मतदान से विश्वामत प्रक्रिया पूरी की जाये, जिसे स्पीकर विजय चौधरी ने स्वीकार नहीं किया. अब जब नीतीश सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया है तो राजद सदन में मुख्य विपक्ष की भूमिका में होगा. राजद व कांग्रेस अब मजबूत विपक्ष बनाने की कोशिश करेंगे1.05 PM : नीतीश को विश्वासमत हासिल

12. 40 PM : नीतीश कुमार का भाषण शुरू. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को 15 सीटें नहीं मिल रही थी, मैंने 40 दिलवाई. मैंने कांग्रेस नेताओं को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर हस्तक्षेप करने को कहा था, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया. उन्होंने कहा कि सत्ता सेवा के लिए होती है, भ्रष्टाचार के लिए नहीं होती. उन्होंने कहा कि सत्ता लोकलाज से चलती है. उन्होंने कहा कि सांप्रदायिकता का पाठ मुझे नहीं पढ़ायें, आज जुमा है और मैं चाहता हूं कि एक बजे तक कार्रवाई हो जाये. उन्होंने कहा कि पाप छिपाने लोग सेकुलर बने हैं. लंबा भाषण देने वाले नीतीश ने आज संक्षिप्त भाषण देकर बात समाप्त की.

12. 30 PM : सुशील कुमार मोदी को दस मिनट का समय बोलने के लिए मिला था, लेकिन उन्होंने संक्षेप में ही अपनी बात कही. अपने समय का भी हिस्सा नीतीश कुमार को दे दिया.

12. 25 PM : कांग्रेस विधायक सदानंद सिंह ने सदन में अपना संबोधन दिया. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार का सबकुछ प्री प्लान था. उन्होंने कहा कि यह सरकार लंबे समय नहीं चलेगी. हालांकि उन्होंने नीतीश को शुभकामनाएं दी.

12. 20 PM : अब तेजस्वी पर नंदकिशोर दाग रहे हैं तीर, कहा – नीतीशजी आपकी काली कमाई जानते तो बगल में नहीं बैठाते

12. 15 PM : तेजस्वी पर नंदकिशोर यादव का बड़ा बयान : नीतीश कुमार अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं करते, अगर वे तेजस्वी की काली कमाई जानते थे, तो अपनी बगल में नहीं बैठाते.

11. 53 AM : तेजस्वी यादव का संबोधन समाप्त हो गया है. अब सत्तापक्ष की ओर से नंदकिशोर यादव बोल रहे हैं.

तेजस्वी का बड़ा बयान : नीतीश कुमार बोले देते तो इस्तीफा दे देता, पुत्र मोह से ज्यादा भाई मोह था

11. 52 AM : तेजस्वी ने कहा है कि पुत्र मोह में गठजोड़ नहीं टूटा, उन्होंने 35 से 40 मिनट तक अपना संबोधन दिया है.

11. 44 AM : तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को रणछोड़ कहा. उन्होंने कहा कि संघ मुक्त भारत बनाने की बात कहने वाले नेता ने आरएसएस के सामने घुटने टेक दिये.

11. 40 AM : विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी ने तेजस्वी यादव से कहा कि वह उत्तेजित करने वाले शब्दों का प्रयोग नहीं करें, संयमित ढंग से अपनी बात रखें.

11. 31 AM : मैंने सीबीआइ एफआइआर के बारे में पूरी जानकारी मुख्यमंत्री को दी थी : तेजस्वी यादव.

तेजस्वी यादव ने मंत्री के रूप में अपने कामकाज पर कहा है कि टेंडर की कोई फाइल मैं नहीं निबटाता था.

11. 30 AM : पिछले लोकसभा चुनाव में आपको दो सीटें मिली थीं, राजद ने ही नीतीश का वजूद बचाया था : तेजस्वी यादव

11. 28 AM : नीतीश जी ने इस्तीफे की चर्चा तक नहीं की, 40 मिनट सीएम के साथ बैठा रहा, लेकिन उन्होंने मुझसे इस्तीफा नहीं मांगा : तेजस्वी यादव

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए यह भी कहा है कि वे हे राम से जय श्री राम हो गये.

11. 25 AM : तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार में अगर हिम्मत थी तो मुझे बरखास्त क्यों नहीं किया. उन्होंने कहा कि साजिश के तहत मुझे व मेरे परिवार को फंसाया गया. उन्होंने कहा नीतीश को हमारी जरूरत थी तो हमारे साथ आ गये और आज भाजपा की जरूरत थी तो सुशील कुमार मोदी के साथ आ गये.

11. 20 AM : तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश ने जनादेश का बार-बार अपमान किया है. 2013 में भाजपा मंत्रियों को बरखास्त किया. फिर उन्होंने ऐसा किया. उन्होंने कहा कि जदयू-एनडीए गंठबंधन लोकतंत्र का अपमान.

11.15 AM : नीतीश ने विश्वास मत पेश किया

11.07 AM : तेजस्वी यादव विपक्ष के नेता घोषित किये गये हैं. उन्होंने सदन के अंदर अपना भाषण शुरू किया है. उन्होंने पहली पंक्ति कही कि नेता सदन से बिहार और पूरा देश इस मुद्दे पर जवाब चाहता है.

11.06 AM : विधानसभा में राजद विधायक हंगामा कर रहे हैं. हालांकि स्पीकर ने सदस्यों को समझाया है कि वे हंगामा नहीं करें और उन्हें मतदान के संबंध में नियम समझाये. विधायकों का मोबाइल बंद करवा दिया गया है. मीडिया के लाइव कवरेज पर भी रोक लगा दी गयी है.

11.05 AM : नीतीश कुमार पर लेफ्ट के सदस्यों ने भी आरोप लगाया और कहा कि वे और सुमो जवाब दें.

11.00 AM : नीतीश हाय-हाय के नारे के साथ सदन के अंदर सभी राजद विधयक पहुंच चुके हैं. सीएम भी अंदर चले गये हैं. पूरे विधानसभा में राजद के विधायक घूम-घूम कर नीतीश के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं.

10.50 AM : बिहार में सत्ता परिवर्तन व नीतीश कुमार के जदयू-एनडीए सरकार के मुख्यमंत्री बनने के खिलाफ राजद मामला कोर्ट तक ले गया था. अब अदालत इस मामले की सोमवार को सुनवाई करेगी.

10.45 AM : राजद विधायक भाई वीरेंद्र सहित कई राजद विधायकों ने नीतीश कुमार को कुर्सी कुमार नाम दिया है. कहा है कि वे कुर्सी के लिए कहीं चले जाते हैं. ध्यान रहे कि कल ही लालू प्रसाद यादव ने रांची में नीतीश कुमार को बेदाग बाबू का नाम दिया था.

10.40 AM :राजद के विधायक पोर्टिको में कर रहे हैं हंगामा. राजद विधायकों ने डिप्टी CM सुशील मोदी को घेर लिया व नारे लगाये.

10.30 AM : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार विधानसभा पहुंच गये हैं.

10.30 AM : बिहार विधानसभा में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गये हैं. विधानसभा के बाहर और अंदर सुरक्षा अभूतपूर्व ढंग से टाइट किया गया है.
10.15 AM : बिहार विधानसभा में जदयू-एनडीए सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री नीतीश आज बहुमत साबित करेंगे. छठी बार सीएम बने नीतीश ऐसी परिस्थिति में बहुमत साबित करने जा रहे हैं, जब उनके दल के अंदर भाजपा के साथ उनके जाने के फैसले पर मतभेद उभर आया है. पार्टी के दूसरे बड़े नेता शरद यादव इससे खुश नहीं हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.