लोन दिलाने का झांसा देकर 25 महिलाओं से हजारों की ठगी

0
806

मसौढ़ी : बैंक से लोन दिलाने का झांसा देकर हासांडीह की 25 महिलाओं से हजारों रुपये की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है. इसे लेकर पीड़त महिलाएं गुरुवार की शाम थाना पहुंची.

जानकारी के मुताबिक बिहटा थाना के नेउरा (सदीसोपुर) में बैंक में कार्यरत रिंकी देवी बीते करीब चार माह पूर्व मसौढ़ी के हासांडीह में अपने एक रिश्तेदार के यहां आई थी . वहां उसने पहले रामपुर (हासांडीह) की खुशबू देवी को अपने बैंक से 1 लाख 40 हजार रुपये लोन दिलाने का झांसा देकर उससे 33 सौ रुपये ले लिये .

फिर उसने हासांडीह की आशा देवी, सोनी देवी, सियामनी देवी, नीतू देवी व सुनीता देवी समेत 25 महिलाओं को बैंक से लोन दिलाने के नाम पर खुशबू देवी के माध्यम से 26 सौ से 33 सौ रुपये ले लिये. साथ ही उसने लोन के लिए आवश्यक कागजात व फोटो भी उनसे ले लिया. इसके बाद दो माह में लोन मिल जाने का आश्वासन दिया .समयावधि बीत जाने पर जब महिलाआें को लोन नहीं मिल सका, तो उन्होंने उसके मोबाइल पर संपर्क साधा.साथ ही महिलाओं द्वारा रिंकी देवी के बैंक में आकर उससे मिलने की बात कहने पर रिंकी देवी के पति ने उन्हें धमकी दी.
इसे लेकर महिलाएं बीते 14 अगस्त को थाना पहुंची और पुलिस से शिकायत की .पुलिस ने उन्हें खुशबू देवी को साथ लेकर आने की सलाह दी .गुरुवार को महिलाएं खुशबू देवी को साथ लेकर थाना पहुंची . इधर, पुलिस ने बताया कि महिलाओं से इस संबंध में लिखित शिकायत की मांग की गयी है. इसके बाद पुलिस विधिसम्मत कार्रवाई करेगी.

एटीएम कार्ड का पिन नंबर पूछ खाते से 59 हजार निकाले : मसौढ़ी. धनरूआ थाना के पभेड़ा गांव निवासी सुरेंद्र प्रसाद को उनके सेलफोन पर झांसा देकर एक अज्ञात जालसाज ने एटीएम कार्ड का पिन नंबर पूछ कर उनके बैंक खाते से 59 हजार रुपये की निकासी कर ली. बाद में राशि निकासी की जानकारी होने पर पीड़ित सुरेंद्र प्रसाद ने इस संबंध में धनरूआ थाना में अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी है .

जानकारी के मुताबिक बुधवार की दोपहर सुरेंद्र प्रसाद के सेलफोन पर एक अज्ञात नंबर से कॉल आया और कहा गया कि वे अपना आधार कार्ड का नंबर और एटीएम कार्ड का पिन नंबर बताएं, नहीं तो खाता बंद हो जायेगा. इधर, सुरेंद्र प्रसाद ने बिना सोचे-समझे अपने एटीएम कार्ड का पिन नंबर उसे बता दिया, जिसके बाद उसके खाते से 59 हजार रुपये की निकासी कर ली गयी.

मसौढ़ी . मेन रोड स्थित एसबीआइ की एटीएम में बुधवार की दोपहर राशि निकासी करने पहुंचे ग्राहक को अपने झांसे में लेकर जालसाज ने उसका एटीएम कार्ड बदल कर पलक झपकते ही उसके खाते से एक लाख रुपये की निकासी कर किसी दूसरे खाते पर ट्रांसफर कर लिया.
इसकी जानकारी खातेधारी को तब हुई जब उसके मोबाइल पर राशि निकासी का मैसेज आया.इस संबंध में पीड़ित खाताधारी कैलुचक निवासी जय प्रसाद वर्मा ने अज्ञात जालसाज के खिलाफ मसौढ़ी थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है . पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

जानकारी के मुताबिक बुधवार की दोपहर जय प्रसाद वर्मा उक्त एटीएम में राशि निकासी करने पहुंचे तभी वहां पहले से मौजूद एक जालसाज ने राशि निकालने में सहयोग करने की बात कह उनका एटीएम कार्ड ले लिया और एक लाख रुपये की निकासी कर उक्त राशि को किसी अन्य खाते में ट्रांसफर कर दिया और खाताधारी को एटीएम खराब होने की बात कह वहां से निकल गया .

मजदूर को झांसा देकर 47 हजार उड़ाये

बाढ़. गुरुवार की सुबह दिल्ली से कमा कर लौटे मजदूर कृष्णा केवट को कार में बैठा कर उसके गांव बरियारपुर पहुंचाने का झांसा देकर 47 हजार रुपये से भरा बैग गायब कर दिया गया. घटना बाढ़ के प्रखंड कार्यालय के पास हुई है. इस संबंध में मजदूर ने थाने में सूचना दी है.
जानकारी के अनुसार कृष्णा केवट ट्रेन से बाढ़ स्टेशन पर उतरा और प्रखंड कार्यालय के पास गांव जाने के लिए दुकान से मिठाई ले रहा था. इसी दौरान कार सवार तीन ठग उसके पास पहुंचे और गांव पहुंचाने का झांसा देकर बैग को कार में रख दिया. इसके बाद चकमा देकर ठग कार सहित फरार हो गये. सामाजिक कार्यकर्ता मानिक पासवान को पीड़ित ने घटना की सूचना दी. इस संबंध में थानाध्यक्ष मनोज सिन्हा ने बताया की ठगी का मामला नहीं है. पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है.

फुलवारीशरीफ. नौबतपुर-भुसौला मुख्य मार्ग एनएच 98 पर अश्वनी पब्लिक स्कूल के समीप बुधवार की रात 7.30 बजे के आसपास दो बाइकों पर सवार चार अज्ञात बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया. पटना से बाइक से अपने घर लौट रहे नौबतपुर के अमरपुरा निवासी और प्रदेश जदयू अतिपिछड़ा सेल के प्रांतीय सचिव डॉ रमेश ठाकुर के भाई राजीव कुमार को ओवरटेक कर अपराधियों ने पिस्तौल का भय दिखा बाइक रोकवा ली और उसके पास से कीमती मोबाइल और सात हजार रुपये लूट आराम से फरार हो गये. थोड़ी दूर आगे पेट्रोलिंग कर रहे पुलिस को राजीव ने सूचित किया. पुलिस उसे अपने साथ बैठा कर कुछ दूर इधर-उधर खोजबीन की, लेकिन कुछ पता नहीं चला.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.