19वीं विश्व चैम्पियनशिप में आसान नहीं होगी भारतीय मुक्केबाजों की राह

0
791

हैम्बर्ग: शिवा थापा और विकास कृष्णन को पहले दौर में बाय और वरीयता मिली है लेकिन भारतीय मुक्केबाजों की राह 19वीं विश्व चैम्पियनशिप में आसान नहीं होगी क्योंकि उन्हें कठिन ड्रा मिले है।

विकास को मिडिलवेट (75 किलो) वर्ग में तीसरी वरीयता मिली है। शिवा को लाइटवेट (60 किलो) में 5वीं वरीयता दी गई है जबकि सुमीत सांगवान (91 किलो) को छठी वरीयता मिली है। ये सभी प्री क्वार्टर फाइनल में रिंग में उतरेंगे। आठों भारतीय मुक्केबाजों के लिये हालांकि पदक की राह आसान नहीं होगी।

6 साल पहले कांस्य जीत चुके विकास को 27 अगस्त कोअंतिम 16 में कीनिया के जान कयालो और इंग्लैंड के बेंजामिन विटेकर के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता से खेलना होगा। वहीं चौथी वरीयता प्राप्त अजरबैजान के कामरान शखसुवारली अगले दौर में उनके सामने हो सकते हैं जो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता और यूरोपीय रजत पदक विजेता हैं। दूसरी ओर शिवा का सामना 28 अगस्त को कजाखस्तान के एडिलेट कुरमेतोव और जार्जिया के ओतर इरानोस्यान के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता से होगा। इसे जीतने पर उन्हें चौथी वरीयता प्राप्त एलनुर अबुदुरइमोव से खेलना पड़ सकता है। शिवा ने 2015 में विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य जीता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.