कोलंबिया के खिलाफ जीत के लिए उतरेंगे: लुईस नोर्टन

0
394

अंडर-17 वर्ल्ड कप के दूसरे ग्रुप मैच में आज भारत का सामना कोलंबिया से होगा। दोनों टीमों ने अपना-अपना पहला मैच गंवा दिया था। अपनी उम्मीदें कायम रखने के लिए दोनों टीमों के लिए आज जीत जरूरी होगी। दो बार चौथी पोजिशन पर रह चुकी कोलंबियन टीम के खिलाफ इस महत्वपूर्ण मुकाबले से पहले भारतीय कोच लुईस नोर्टन डी मातोस ने बिना किसी लेकिन-किंतु-परंतु के कहा कि उनकी टीम जीत के लिए उतरेगी।

मातोस ने यह जरूर माना कि कोलंबियाई टीम के पास हर वह हथियार है, जो जीत के लिए चाहिए होता है। वह खेल में शरीर का इस्तेमाल करने से भी नहीं चूकते। घाना के खिलाफ उन्होंने 16 फाउल किए थे और एक पीलाकार्ड भी देखा था। मातोस कहते हैं, ‘एक प्रतिद्वंद्वी के तौर पर हम उनका सम्मान करते हैं। लेकिन हमारे लिए अब जीत के सिवाए को रास्ता नहीं है। हम सिर्फ और सिर्फ जीत के लक्ष्य के साथ मैदान पर उतरेंगे। हमारे पास इतिहास रचने का मौका है।’ अंडर-17 वर्ल्ड कप में पहली बार खेल रही तीन टीमों में से एक नाइजर ने कोच्चि में उत्तर कोरियो को हराकर इतिहास रच दिया है। भारतीय टीम के पास इस अफ्रीकी देश की प्रेरणा है।

रफ-टफ खेल के लिए मशहूर साउथ अमेरिकी टीम की ओर से लियांद्रो कैंपेज और डेनमैन कोर्टेज की जोड़ी भारत के लिए हरसंभव मुश्किलें पैदा करेंगी। ऐसे में गोलकीपर धीरज सिंह मोइरांगथेम पर काफी दारोमदार होगा। अमेरिका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करके हर किसी की वाहवाही लूट रहे धीरज को डिफेंस लाइन में जीतेंद्र सिंह,अनवर अली और संजीव स्टालिन की तिकड़ी का भी भरपूर साथ चाहिए होगा। खास तौर पर जीतेंद्र को पिछली गलती दोहराने से बचना होगा। उनकी एक चूक से अमेरिका को पेनल्टी-किक मिली थी जिसकी बदौलत उसने भारत पर बढ़त बनाई थी।

शुरुआती मैच से पहले अमेरिकी कोच जॉन हैकवर्थ ने भारत के दो खिलाड़ियों का खासतौर पर जिक्र किया था। अनिकेत जाधव और कोमल थाटल। पहले मैच में इन दोनों ने भारतीय फैंस को रोमांचित होने के कई मौके दिए। मगर इस बार कुछ सेकंड की सनसनी की बजाय गोल भेदने की चपलता दिखानी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.