मसूद अजहर पर बैन रोकने के लिए जुगाड़ लगाने में जुटा है चीन?

0
630

अगले महीने अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप एशियाई दौरे पर आएंगे और इस दौरान वह तीन दिन चीन में रहेंगे। लेकिन इससे पहले ही चीन अपनी जोड़-तोड़ की नीति में लग गया है। सोमवार को चीन ने यह पुष्टि कर दी है कि वह एक बार फिर भारत और अमेरिका के संयुक्त प्रयात को झटका देते हुए पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र में आतंकवादी घोषित करने से संबंधित प्रस्ताव को रोकेगा। चीन ने यह भी उम्मीद जताई है कि अमेरिका भी इस मसले पर किसी तरह का दबाव नहीं बनाएगा, क्योंकि यूएस को फिलहाल उत्तर कोरिया से निपटने के लिए चीन की जरूरत है।

दुश्मन का दुश्मन दोस्त होता है और चीन वही फ़र्ज़ निभा रहा है…पर वो शायद भूल रहा है…की ये नेहरू की सरकार नही है जो चुप चाप अपनी जमीन देदेगा……….

अमेरिका ने इस साल जनवरी में फ्रांस और ब्रिटेन के समर्थन से मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित किए जाने के संबंध में नया प्रस्ताव पेश किया था। पेइचिंग ने दोबारा इस मामले को अगस्त तक तकनीकी रूप से रोक दिया था और इसे आगे 3 महीनों तक के लिए बढ़ा दिया था। यह तकनीकी रोक इस हफ्ते गुरुवार को खत्म हो रही है।

चीन का कहना है कि उसे ऐसी उम्मीद नहीं है कि अमेरिका ऐसे समय में उसपर मसूद अजहर के मुद्दे को लेकर दबाव बनाएगा, जब ट्रंप को उत्तर कोरिया जैसे संवेदनशील मुद्दे पर चीन की जरूरत है। बता दें कि भारत का कहना है कि चीन यह सब अपने करीबी देश पाकिस्तान का चेहरा संयुक्त राष्ट्र में बेनकाब होने से बचाने के लिए कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.