गोल्फर शिव कपूर ने पैनासोनिक इंडिया का खिताब जीता

0
416

भारत के शिव कपूर ने दिल्ली गोल्फ क्लब में चौथे और अंतिम दौर में चार अंडर 68 के स्कोर के साथ रविवार को यहां 3 शॉट से पैनासोनिक ओपन गोल्फ टूर्नमेंट जीत लिया जो भारत में उनका पहला एशियाई टूर खिताब है। कपूर का यह इस सत्र का दूसरा एशियाई टूर खिताब है। उन्होंने अंतिम दौर में पांच बर्डी की लेकिन एक बोगी भी कर गए। वह साथी भारतीय खिलाड़ियों अजितेश संधु (65), सुधीर शर्मा (69) और चिराग कुमार (64) से तीन शॉट आगे रहे।

चिराग ने अंतिम दौर में 9 बर्डी और एक बोगी जबकि संधु ने 8 बर्डी और एक बोगी की। कपूर ने अप्रैल में यींगदर हेरिटेज खिताब भी जीता था जबकि मौजूदा सत्र में वह थाईलैंड ओपन में भी उपविजेता रहे। उन्होंने अपना पहला एशियाई टूर खिताब 2005 में वोल्वो मास्टर्स ऑफ एशिया के रूप में जीता था।

सात गोल्फर 14 अंडर 274 के कुल स्कोर के साथ संयुक्त दूसरे स्थान पर रहे जिससे शीर्ष 10 में भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा रहा। अमेरिका के पॉल पीटरसन भी संयुक्त दूसरे स्थान पर रहे। वह तीसरे दिन के बाद संयुक्त रुप से शीर्ष पर थे। करणदीप कोचर (66), एसएसपी चौरसिया (69) और ओम प्रकाश चौहान (69) भी संयुक्त दूसरे स्थान पर रहे।

कपूर ने खिताब जीतने के बाद कहा, मेरे पास इसे बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं। आप जीतने का सपना देखते हो लेकिन मैं अपने करियर में कभी इतना आगे नहीं गया। इसलिए मैंने कभी अपने जीवन में स्पीच की तैयारी नहीं की। उन्होंने कहा, जब मैंने वोल्वो मास्टर्स जीता तो यह मेरे लिए आत्मविश्वास बढ़ाने वाला था और इसके बाद लंबा अंतराल आ गया और मुझे नहीं पता था कि मैं दोबारा जीत सकूंगा या नहीं लेकिन यींगदर में जीत ने मुझे आत्मविश्वास दिया कि मैं फिर जीत सकता हूं।

कपूर ने जैसे ही जीत दर्ज की और दर्शकों का अभिवादन स्वीकार किया, वैसे ही चिराग और राहिल गंगजी सहित उनके साथी और दोस्तों ने उन्हें जश्न मनाते हुए सोड़ा और पानी से भिगो दिया। अन्य भारतीयों में हनी बैसोया (68) और शमीम खान (72) कुल 276 के स्कोर से संयुक्त नौवें स्थान पर रहे। उनके तीन शॉट पीछे गगनजीत भुल्लर संयुक्त 12वें जबकि शुभंकर शर्मा (69) संयुक्त 18वें स्थान पर रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.