IS आतंकी मूसा ने कोलकाता की जेल में गार्ड का गला रेता

0
787

रोहित खन्ना, कोलकाता पिछले साल पश्चिम बंगाल में पकड़े गए आतंकी संगठन आईएसआईएस ( इस्लामिक स्टेट + )के संदिग्ध आतंकी मोहम्मद मोसीउद्दीन उर्फ अबू मूसा ने रविवार सुबह कोलकाता स्थित अलीपुर सेंट्रल जेल + में एक गार्ड पर हमला बोल दिया। आईएस आतंकियों से प्रशिक्षित मूसा ने उसी (आईएस) स्टाइल में चाकू से गार्ड का गला रेतने की कोशिश की। गंभीर हालत में गार्ड को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोबारा बाल उगाने का 1 नेचुरल तरीका विदेशियों को मारना चाहता था आईएस आतंकी मूसा बता दें कि पिछले वर्ष कोलकाता में पकड़े गए मूसा पर एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) कोर्ट में ट्रायल चल रहा है। जेल अधिकारियों ने बताया, रोजाना सुबह बैरक के दरवाजे खोले जाते हैं और कैदी जेल ग्राउंड के लिए बाहर आते हैं। मूसा को जेल में बैरक नंबर 13 में अलग से रखा गया है। रविवार सुबह करीब 7 बजे 45 वर्षीय गार्ड गोविंद चंद्र डे ने जैसे ही मूसा के बैरक का ताला खोला, उसने (मूसा) पत्थर से गार्ड पर हमला बोल दिया। अधिकारी ने बताया कि सिर पर पत्थर लगने से गार्ड नीचे जमीन पर गिर गया। इसके बाद मूसा + कूदकर उसके सीने पर चढ़ गया और धारदार हथियार से उसके गले पर वार कर दिया। मूसा ने गला काटने की कोशिश की थी। अचानक हुए इस हमले से दूसरे गार्ड और कैदी भौंचक्के रह गए। बाद में इनके सहयोग से डे को मूसा से अलग किया जा सका। डे के गले से काफी खून बह रहा था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। राज्य के कारागार मंत्री उज्जवल विश्वास ने बताया कि जेल में मूसा का यह हमला अचानक था। उन्होंने कहा कि अब तक जेल में उसकी तरफ से ऐसी कोई हरकत नहीं की गई है। उधर, इसकी जांच की जा रही है कि जेल में मूसा के पास धारदार हथियार कहां से आए। बता दें कि पिछले वर्ष मूसा को बर्धमान स्टेशन से गिरफ्तार किया गया था। बर्धमान ब्लास्ट में संलिप्तता के कारण पिछले वर्ष उसे एक ट्रेन से गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद एनआईए ने उससे पूछताछ की थी। बाद में अपनी चार्जशीट में एनआईए ने कहा था कि मूसा कोलकाता में विदेशियों की हत्या करने की फिराक में था। एनआईए के मुताबिक मूसा एक प्रभावशाली परिवार के सदस्यों की हत्या की तैयारी में था। इस कदम से वह भारत में भी आतंकी संगठन आईएस का खौफ फैलाना चाहता था। पश्चिम बंगाल के लाभपुर में मूसा ने एक परिवार पर हमले की तैयारी की थी। बाद में उसकी पहचान कर ली गई थी। उधर, अमेरिकी फेडरल एजेंसी एफबीआई ने भी कोलकाता में मूसा से पूछताछ की थी। मूसा से इस बात की भी जानकारी ली गई कि क्या भारत में आईएस के लिए नियुक्तियां करने वाला शाफी अरमार अलकायदा के दूसरे आतंकियों के संपर्क में था या नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.