गुजरात में सच हुई नीतीश की भविष्यवाणी, कहा – डर की वजह से हुई इवीएम की आलोचना

0
404

पटना : गुजरात चुनाव के नतीजे आने लगे और सियासत भी परवान चढ़ने लगी है. पूर्व में भी पूरे विश्वास के साथ गुजरात में भाजपा की जीत की घोषणा कर चुके बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर ट्वीट के जरिये भाजपा विरोधी गुटों पर निशाना साधा है. नीतीश ने पहले कहा था कि जिस प्रदेश से प्रधानमंत्री हैं, वहां के लोगो अपने प्रधानमंत्री से अलग वोट नहीं करेंगे. कुछ भावना को समझा कीजिए. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि कुछ लोग हार के डर से इवीएम की आलोचना कर रह हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि हार के डर से चुनाव में इवीएम की आलोचना लोग जो कर लें, लेकिन इवीएम के प्रयोग से चुनाव पारदर्शी और निष्पक्ष हुआ है. अब मतदान के अधिकार से कोई किसी को वंचित नहीं कर सकता.

हार के डर से चुनाव में ईवीएम की आलोचना जो कर लें लेकिन ईवीएम के प्रयोग से चुनाव पारदर्शी और निष्पक्ष हुआ है। अब मतदान के अधिकार से कोई किसी को वंचित नहीं कर सकता है।

नीतीश कुमार ने लोक संवाद के दौरान कई बार मीडिया से बातचीत में कहते थे कि गुजरात में भाजपा को विजय श्री का टिका लगेगा. वहां भाजपा को जीतने से कोई ताकत नहीं रोक सकती है. गुजरात चुनाव खत्म होने के बाद नतीजों से कुछ समय पहले कांग्रेस और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की ओर से इवीएम को लेकर बड़े सवाल उठाये जा रहे हैं. इतना ही नहीं कांग्रेस और हार्दिक पटेल की ओर से चुनाव आयोग की विश्वसनीयता पर भी प्रश्नचिह्न खड़ा किया जा रहा है. हार्दिक पटेल ने यहां तक कहा कि इवीएम को हैक करने के लिए 140 तकनीकी लोगों को लगाया है. हार्दिक पटेल ने इसे लेकर कई ट्वीट किये.

मेरी बातों पर सिर्फ़ हँसी आएगी लेकिन विचार कोई नहीं करेगा
भगवान के द्वारा बनाए गई हमारे शरीर में छेड़छाड़ हो सकती है तो मानव के द्वारा बनाई गई EVM मशीन में क्यों छेड़छाड़ नहीं हो सकती !! ATM हेक हो सकते है तो EVM क्यूँ नहीं !!!

हार्दिक ने लिखा कि अहमदाबाद की एक कंपनी के द्वारा 140 सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स के हाथों से 5000 ईवीएम मशीन के सोर्स कोड से हैकिंग करने की तैयारी है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि विसनगर, पाटन, राधनपुर, टंकारा, ऊजा, वाव, जेतपुर, राजकोट-68, 69, 70, लाठी-बाबरा, छोटा उदयपुर, संतरामपुर, सांवली, मांगरोल, मोरवाहड़फ, नादोद, राजपीपला, डभोई और खास करके पटेल और आदिवासी इलाके की विधानसभा क्षेत्र में ईवीएम सोर्स कोड से हैकिंग करने का प्रयास हुआ है. हार्दिक पटेल के इसी ट्वीट पर नीतीश कुमार ने करारा जवाब दिया है.

विसनगर,पाटन,राधनपुर,टँकारा,ऊँजा,वाव,जेतपुर,राजकोट-६८,६९,७०,लाठी-बाबरा,छोटाउदेपुर,संतरामपुर,साँवली,मांगरोल,मोरवाहड़फ,नादोद,राजपीपला,डभोई और ख़ास करके पटेल और आदिवासी इलाक़े की विधानसभा क्षेत्र में EVM सोर्स कोर्ड से हेकिंग करने का प्रयास हुवा हैं।

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भाजपा पूरी तरह आगे चल रही है और बहस जारी है. जबकि हार्दिक पटेल ने अपने ट्वीट में कहा कि उनकी बातों का मजाक उड़ाया जा सकता है, उनकी बातों पर कोई विश्वास नहीं करेगा. उन्होंने कहा कि मेरी बातों पर सिर्फ हंसी आयेगी लेकिन विचार कोई नहीं करेगा. भगवान के द्वारा बनाये गये हमारे शरीर में छेड़छाड़ हो सकती है तो मानव के द्वारा बनायी गयी इवीएम मशीन में क्यों छेड़छाड़ नहीं हो सकती है. एटीएम हैक हो सकते हैं इवीएम क्यूं नहीं.

अहमदाबाद की एक कंपनी के द्वारा १४० सोफ्टवेर एंजिनियर के हाथों से ५००० EVM मशीन के सोर्स कोर्ड से हेकिंग करने की तैयारी हैं।

अभी भी दोनों प्रदेशों में मतगणना का काम जारी है, वहीं दूसरी ओर भाजपा की जीत की ओर बढ़ते कदम के साथ राजनीतिक और सियासी प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है. कई पार्टी के नेता सुबह से टीवी पर राहुल गांधी और कांग्रेस के नेतृत्व को लेकर बहस कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर भाजपा की जीत को लेकर भी बहस जारी है. इतना ही नहीं भाजपा नेताओं का कहना है कि गुजरात चुनाव में कांग्रेस ने जाति का मुद्दा उठाया और साथ ही प्रधानमंत्री को लेकर कई तरह के आपत्तिजनक कमेंट किये. इसी का परिणाम है गुजरात चुनाव में हार.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.