IAS दीपक के पास आय से 20 गुना अधिक संपत्ति, पटना के P&M मॉल में भी दो दुकान

0
794

विशेष निगरानी इकाई के शिकंजे में आए आइएएस दीपक आनंद के खिलाफ अब मनी लॉंड्रिंग का मामला भी दर्ज हो सकता है। कटिहार स्थित पत्‍नी के कमरे से दो लाख के गहने व पांच लाख के घरेलू सामान
पटना । विशेष निगरानी इकाई (एसवीयू) के शिकंजे में आए वर्ष 2007 बैच के आइएएस अधिकारी दीपक आनंद के खिलाफ अब मनी लॉंड्रिंग का मामला भी दर्ज हो सकता है। दरअसल, सीतामढ़ी स्थित दीपक आनंद के घर से तथा गोड्डा स्थित उनकी ससुराल से एसवीयू को मनी ट्रांजेक्शन से संबंधित दस्तावेज मिले हैं।
इनसे पता चलता है कि दीपक आनंद व उनकी पत्नी डॉ. शिखा रानी के बैंक खातों में कई स्रोतों से पैसे भेजे गए हैं। अब दीपक आनंद के खिलाफ पीएमएलए के तहत भी मामला दर्ज करने की तैयारी की जा रही है। दीपक आनंद के ठिकानों पर ईओयू की छापेमारी लगातार दूसरे दिन भी जारी रही।
इस बीच, ईओयू की टीम गुरुवार को दीपक आनंद की पत्नी डॉ. शिखा को कटिहार ले आई। यहां मेडिकल कॉलेज हॉस्टल में डा. शिखा के कमरे की तलाशी ली गई। तलाशी में हॉस्टल के कमरे से पांच लाख मूल्य के घरेलू सामान और दो लाख कीमत के तनिष्क के स्वर्णाभूषण बरामद हुए हैं।
इस तरह, दीपक आनंद के ठिकानों पर छापेमारी में ईओयू को अबतक दो करोड़, 60 लाख रुपये की चल व अचल संपत्ति का पता लगा है। यह राशि उनकी वास्तविक कमाई से करीब 20 गुना अधिक है। सूत्रों की मानें तो ईओयू की एक टीम गुरुवार को मुजफ्फरपुर भी रवाना की गई है। बताया जाता है कि वहां भी दीपक आनंद द्वारा एक कमरे को बंद करके रखा गया है।
इधर, एसवीयू की टीम ने दीपक आनंद की पत्नी के नाम पटना के पी एंड एम मॉल में खरीदी गई दो दुकानों के दस्तावेज भी बरामद कर लिए हैं। इस मॉल में दीपक आनंद की दो दुकानें हैं। पहली दुकान एफ-12, उन्होंने वर्ष 2011 में 6.93 लाख रुपये में खरीदी थी। जबकि दूसरी दुकान आरटी-02 की खरीद वर्ष 2016 में की गई है। जिसके एवज में मॉल मालिक को 10.18 लाख रुपये दिए गए हैं। इन दोनों दुकानों के एरिया मेंटेनेंस पर भी दीपक आनंद ने 12 लाख, 87 हजार, 500 रुपये अलग से खर्च किए हैं।
फिलहाल मुजफ्फरपुर में उस कमरे को सील कर दिया गया है। उसकी तलाशी गुरुवार की देर शाम तक नहीं ली जा सकी। बता दें कि जब ईओयू ने विगत बुधवार को दीपक आनंद के ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई शुरू की तब उनकी पत्नी डॉ. शिखा पटना में ही थीं। सूत्रों ने बताया कि दीपक आनंद के ठिकानों से मिले दो बैंक लॉकर की तलाशी का काम अभी शुरू नहीं किया गया है लेकिन दोनों बैंक लॉकरों को सील कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.