भोपाल-उज्जैन पैसेंजर विस्फोट में कानपुर के आरोपियों पर देशद्रोह का केस

0
531

पिछले वर्ष सात मार्च को भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में जबड़ी रेलवे स्टेशन के पास हुए विस्फोट मामले में चार आरोपियों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलेगा। इनमें तीन दोषी कानपुर और एक कन्नौज के थे। इन सभी पर आतंकी हमले की साजिश रचने का भी मुकदमा चलेगा।
गौस खान रहा है मास्टर माइंड
गुरुवार को एनआईए के विशेष न्यायाधीश गिरीश दीक्षित की कोर्ट ने इस मामले के चारों आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किए। आरोपियों में कानपुर के गौस मोहम्मद खान (56), मोहम्मद दानिश (27), आतिफ मुजफ्फर (22) एवं कन्नौज निवासी सैयद मीर हुसैन (18) शामिल हैं। वहीं इस मामले में कानपुर के ही एक अन्य आरोपी सैफुल्ला की लखनऊ एनकाउंटर में मौत हो चुकी है। पूरे ऑपरेशन में गौस खान मास्टर माइंड की भूमिका में रहा है।
चारों अारोपी भोपाल जेल में
कोर्ट ने कहा, इन चारों अभियुक्तों ने सैफुल्ला संग मिलकर विध्वंसक कार्य किया, जो देश की संप्रभुता एवं राष्ट्रीय सुरक्षा व संरक्षा को खतरा पहुंचाते हैं। वर्तमान में चार आरोपियों में से तीन दानिश, आतिफ और गौस खान भोपाल केंद्रीय जेल में बंद हैं। इन तीनों को एमपी पुलिस ने घटना के कुछ ही घंटों बाद उसी दिन तब दबोचा था, जब वे एक बस से भाग रहे थे। वहीं, चौथे आरोपी गौस खान को इनके द्वारा दी गई जानकारी पर कानपुर के जाजमऊ में कई दिनों तक छापेमारी के बाद दबोचा था। तीनों को लखनऊ से भोपाल जेल में शिफ्ट किया गया था।
क्या था मामला
सात मार्च 2017 को शाजापुर के पास जबड़ी रेलवे स्टेशन पर भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में बम विस्फोट में नौ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे।
एनआईए को सौंपी थी जांच
14 मार्च को केंद्र सरकार ने इस मामले की जांच एनआईए को सौंप दी थी। एनआईए ने आरोपियों के खिलाफ आठ अगस्त को कोर्ट में चालान पेश किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.