एएमयूः हिजबुल में शामिल छात्र मुनान के बाद अब उसका रूममेट भी गायब

0
728

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, यानी AMU के रिसर्च स्कॉलर मुनान बशीर वानी के आतंकी संगठन हिज़्ब-उल-मुजाहिदीन में शामिल होने के बाद अब उसका रूममेट मुजम्मिल हुसैन भी लापता है। हालांकि अभी तक मन्नान वानी का भी पता नहीं चल पाया है। खुफियां एजेंसियां वानी की तलाश में जुटी हुई हैं। हालांकि पुलिस ने अभी तक उसके आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल होने की बात की पुष्टि नहीं की है।
प्रारंभिक जांच से पता चला है कि उसका रूममेट मुजम्मिल हुसैन जुलाई 2017 से लापता है। मुजम्मिल हुसैन जम्मू-कश्मीर के बारामूला का रहने वाला है।
आपको बता दें कि एके-47 राइफल के साथ मुनान बशीर वानी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर आई थीं। वानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में एप्लाइड जियोलॉजी में पीएचडी कर रहा था, लेकिन उसने कुछ दिन पहले यूनिवर्सिटी छोड़ दी थी। पिछले साल गृह नगर उत्तर कश्मीर में आई बाढ़ के बाद जीआईएस तकनीक और रिमोट सेंसिंग को लेकर अपनी रिपोर्ट समिट की थी जिसके लिए उन्‍हें पुरस्‍कार भी मिला था।
वानी ने हॉस्टल में बांटा था हिज्बुल का ‘कैलेंडर’
जम्मू-कश्मीर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुनीर खान ने कहा कि सभी चीजों की जांच की जा रही है और यह कहना अभी जल्दीबाजी होगा कि मुनीर हिज्बुल में शामिल हो गया है। हालांकि अलीगढ़ पुलिस की जांच से पता चला है कि वानी ने जनवरी 2017 में हॉस्टल में हिज्बुल का ‘कैलेंडर’ बांटा था।
अलीगढ़ के एसएसपी राजेश पांडेय ने कहा कि वानी का रूममेट हुसैन पिछले साल जुलाई के बाद से नहीं आया है। हॉस्टल के मेस वाले ने बताया कि मन्नान को दो जनवरी को अंतिम बार देखा गया था। बता दें, मन्नान वानी को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) ने निष्कासित कर दिया है। दो दिन पहले राइफल के साथ वानी की फोटो फेसबुक पर वायरल हो गई, जिसमें कहा गया कि 5 जनवरी को वह हिज्बुल मुजाहिदीन के साथ जुड़ गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.