जेल में लालू, आपस में भिडं गए राजद नेता तो जदयू ने ली चुटकी

0
583

राजद सुप्रीमो लालू यादव के जेल जाने के बाद दो राजद नेता आपस में भिड़ गए हैं। राजद नेता शिवानंद तिवारी ने रघुवंश प्रसाद के बयान पर अंगुली उठाई है तो वहीं जदयू ने तंज कसा है।
पटना । लालू के जेल जाने के बाद राजद के दो वरिष्ठ नेता अपने-अपने बयान को लेकर आपस में भिड़ गए हैं, जिसे लेकर पार्टी के भीतर विवाद उजागर हो गया है। राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह पर तल्ख टिप्पणी की है तो रघुवंश ने भी उन्हें तगड़ा जवाब दिया है। अभी के माहौल में दोनों नेताओं की इस तरह की भिड़ंत पार्टी के लिए ठीक नहीं है।
रघुवंश प्रसाद सिंह के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते शिवानंद तिवारी ने कहा है कि मुझे कुछ भी समझाने से पहले रघुवंश बाबू अपने खुद के बयान को देख लें, मैं अपने बयान पर आज भी कायम हूं।
इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि अगर रघुवंश बाबू को कोई समस्या है तो उन्हें मुझसे बात करनी चाहिए। बता दें कि रघुवंश प्रसाद ने कहा था कि कोर्ट तो सबूतों के आधार पर फैसला देता है और मैंने कभी भी जात-पात की बात नहीं की।
रघुवंश ने आरोप लगाते हुए कहा कि सिर्फ इस फैसले के मद्देनजर न्यायपालिका में आरक्षण का मुद्दा बनाकर शिवानंद तिवारी गलत तर्क दे रहे हैं। न्यायपालिका में जात- पात की बात सही नहीं है, उसपर अंगुली नहीं उठानी चाहिए।
राजद के इन दोनों नेताओं की आपसी बयानबाजी पर जदयू नेता संजय सिंह ने ट्वीट कर एक कविता लिखी है नेता जी को हो गयी जेल, राजद में शुरू हो गया खेल, बाबाओं के बीच नहीं है तालमेल रघुवंश बाबू के तीखे बोल, शिवानंद बाबा को पार्टी रही झेल।
संजय सिंह ने आगे लिखा है कि विधायिका और कार्यपालिका में दखल अंदाजी के लिए आप पहले से ही बदनाम थे, लेकिन न्यायपालिका को प्रभावित करने की आपकी ये कोशिश किसी दुस्साहस से कम नहीं। जनता आपको कभी माफ नहीं करेगी।
बता दें कि सीबीआई की विशेष अदालत ने अपने फैसले पर टिप्पणी करने को लेकर राजद नेता रघुवंश प्रसाद, तेजस्वी यादव और मनोज झा के खिलाफ नोटिस जारी कर किया है और उन्हें जवाब तलब के लिए पेश होने की बात कही है। चारा घोटाले मामले के एक केस में सीबीआइ की विशेष अदालत ने लालू प्रसाद यादव को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई है और सजा के बाद लालू रांची के होटवार स्थित बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.